अंबाला, [दीपक बहल]। Railway Time Table: रेलवे ट्रेनों के टाइम टेबल में बदलाव करने की तैयारी में है। जुलाई 2021 में रेलवे का नया ऐतिहासिक टाइम टेबल आने की संभावना है। इसमें बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। रेलवे के इतिहास में यह टाइम टेबल अपने आप में एक छाप छोड़ जाएगा। हरियाणा और पंजाब में भी ट्रेनों के समय में बदलाव होगा।

ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने के साथ नंबर बदलने की संभावना, ठहराव पर भी चलेगी कैंची

इसके साथ ही ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने, ठहराव बंद करने, ट्रेन नंबरों में बदलाव, ट्रेनों को अपग्रेड करना जैसे पहलुओं पर विचार किया जा रहा है। इंडियन इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, मुंबई (आइआइटी) और इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (इसरो) बेंगलुरु को टाइम टेबल बनाने का जिम्मा दिया गया है। दस हजार से अधिक ट्रेनों के ठहराव बंद करने पर विचार किया जा रहा है ताकि ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जा सके।

दिल्ली से कटरा श्री शक्ति और नई दिल्ली से अमृतसर शताब्दी के टाइम में भी हो सकता है बदलाव

जानकारी के अनुसार, नई दिल्ली से लुधियाना तक दौड़ने वाली शताब्दी एक्सप्रेस को 130 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ाने का जिक्र होगा, जबकि आगे यह ट्रेन 110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी नई दिल्ली से अमृतसर के बीच दौड़ने वाली शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन संख्या 12013-12014 के टाइम में भी बदलाव किया जा सकता है। यह ट्रेन नई दिल्ली से मौजूदा समय दौड़ रहे टाइम से एक-दो घंटे आगे की जा सकती है। इसी प्रकार दिल्ली से कटरा जाने वाली श्री शक्ति एक्सप्रेस के समय परिवर्तन पर भी विचार किया जा रहा है।

ठहराव बंद होने से बचेगा रेलवे का पैसा

रेलवे जीरो बेस्ड टाइम टेबल बनाने जा रहा है। इसमें रात्रि 11 बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक कौन-कौन सी ट्रेनें कहां रुकती हैं और कितने यात्री उतरते हैं, इसका आकलन किया गया है। इसका उद्देश्य है कि ऐसे ठहरावों को बंद किया जाए जहां यात्रियों की संख्या न के बराबर है। ट्रेन के एक स्टेशन पर रुकने और फिर चलने में 7600 से 9000 रुपये का खर्च का अनुमान है।

इन ट्रेनों को मिलेगा मेल एक्सप्रेस का दर्जा

पैसेंजर ट्रेनों को रेलवे मेल एक्सप्रेस का दर्जा देने के प्रस्ताव पर मुहर लग चुकी है। कालका से नई दिल्ली के बीच जाने वाले ट्रेन नंबर 54304 और ब¨ठडा से अंबाला आने वाली 54306 को मेल एक्सप्रेस का दर्जा दिया जा रहा है। इसके अलावा कुछ ट्रेनें ऐसी भी चिन्हित की गई हैं जिसमें यात्रियों की संख्या ही कम है। ऐसे में उन रूटों पर ट्रेनों को बंद या दो से तीन सप्ताह तक चलाया जा सकता है।

नई ट्रेनों को पटरी पर मिलेगी जगह

ट्रेनों में ठहराव पैसेंजर एक्सप्रेस से लेकर सुपरफास्ट एक्सप्रेस तक में किया जाएगा। जिन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या कम है और उस रूट पर अन्य ट्रेनें भी दौड़ रही हैं वहां पर भी ट्रेनों में कटौती हो सकती है। ऐसे में नया नाम देकर दूसरे रूट पर ट्रेनों को चलाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: दर्दनाक, मालिश करते वक्‍त मासूम की मौत हो गई, बेसुध हो गोद में उठा कर घर छोड़ गई मां

 

यह भी पढ़ें: कमाल: न कार, न कभी दिल्ली गया, हिसार के कारपेंटर के पास पहुंचा दिल्ली पुलिस का ई चालान

 

 

 

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021