चंडीगढ़ : स्टार क्रिकेटर युवराज सिंह को छोटे भाई जोरावर सिंह के वैवाहिक विवाद केस में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से कोई राहत नहीं मिली है। शुक्रवार को हाईकोर्ट के जस्टिस ए जी मसीह की पीठ ने मामले की सुनवाई 1 अक्टूबर तक स्थगित कर दी।

युवराज ने भाई के वैवाहिक विवाद को लेकर मीडिया में खबर प्रकाश्&ाित करने पर रोक लगाने के लिए हार्इ कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। उन्होंने भाई की पत्नी व उसके मायके वालों पर परिवार व अपनी की छवि धूमिल करने का भी आरोप लगाया है। इससे पहले हाईकोर्ट ने इस मामले में मीडिया में खबर प्रकाशित किए जाने पर प्रतिबंध लगाए जाने से इंकार कर दिया था।

यह भी पढ़ें : रैक्सिल खरीद मामला : सीबीआइ जांच के विरोध पर दो अध्ािकारी निलंबित

युवराज सिंह, उनकी मां शबनम सिंह और छोटे भाई जोरावर सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दायर अपने पारिवारिक मसले में मीडिया की दखलंदाजी का आरोप लगाया है। याचिका में यह भी आरोप था कि जोरवार की पत्नी के परिवार वाले उनकी छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें विवाद को लेकर पत्रकार वार्ता बुलाया जाना शामिल है।

यह भी पढ़ें : पंजाब सरकार किसान विरोधी : हाई कोर्ट

हाई कोर्ट की पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता ऐसा कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर पाए जिससे साबित हो की इस मामले में मीडिया संयम से काम नहीं कर रहा है और अपनी सीमा लांघ रहा है।पीठ ने कहा कि भारत के संविधान में हर किसी को अपनी बात कहने की आजादी है बशर्ते वह एक सीमा में हो।

इस मामले में याचिकाकर्ता के ससुराल वाले अगर कोई प्रेस वार्ता करते हैं तो प्रकाशित करने पर रोक कैसे लगाई जा सकती है। जोरावर सिंह का पिछले साल फरवरी में विवाह हुआ था। याचिकाकर्ता के अनुसार जोरावर व उसकी पत्नी के बीच तलाक की प्रक्रिया चल रही है।

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप