जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को लोगों को समझाया भी और चेताया भी। उन्होंने कहा कि Lockdown के दौरान पुलिस कर्फ्यू जैसी ही सख्ती बरतेगी। लोग अपने घरों में ही रहें, जरूरत का सामान खरीदने भी कम से कम बाहर निकलें। अगले दो दिनों सरकार लोगों को उनके मोहल्लों में ही जरूरत का सामान उपलब्ध कराएगी। उन्होंने दावा किया कि जनता ने साथ दिया तो हरियाणा राज्य सबसे पहले कोरोना वायरस के कहर पर काबू पा लेगा।

मुख्यमंत्री ने सायं पांच बजे राज्यवासियों के नाम अपने संदेश में कहा कि देश, प्रदेश और जिलों की सीमाएं सील कर दी गई हैं। पुलिस को भी कर्फ्यू जैसा माहौल बनाने के लिए कहा गया है। जरूरतमंदों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए सरकारी कर्मचारियों के साथ 60 हजार स्वयंसेवकों को लगाया गया है। इनमें स्वास्थ्य सुविधाएं देने वाले डॉक्टर व नर्स सहित पैरामेडिकल स्टॉफ भी है।

जरूरत पड़ने पर हेल्पलाइन का उपयोग करें लोग

राज्य सरकार ने जरूरत पड़ने पर स्वास्थ्य सहित आर्थिक संबंधी कठिनाईयों के लिए भी हेल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं। लोग जरूरत पड़ने पर इनका उपयोग करें। आर्थिक संबंधी कठिनाईयों के लिए 1100 और स्वास्थ्य संबंधी मामलों के लिए 1075 हेल्पलाइन शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में 13 हजार लोगों पर निगरानी रखी जा रही है जो विदेश से आए या फिर इनके संपर्क में रहे। सरकार ने 6500 बेड क्वारंटाइन और 4500 बेड आइसोलेशन के लिए तैयार करवाए हैं। कोरोनाग्रस्त मरीजों के इलाज के लिए अलग अस्पताल तैयार करने पर भी विचार चल रहा है।

दूसरे राज्यों के लोगों देंगे सभी सुविधाएं

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अब दूसरे राज्यों के लाेगों को असुरक्षा की भावना से पलायन नहीं करने दिया जा रहा है। ऐसे लोगों को सरकार द्वारा तैयार किए गए राहत शिविरों में ठहराया गया है। सरकार ने राज्य में ऐसे 437 राहत शिविर बनाए हैं। इनमें 12 हजार लोगों को ठहराया गया है। इनकी क्षमता ७० हजार लोगों से ज्यादा के ठहरने की है। मनोहर लाल ने कहा कि दूसरे राज्यों के लोगों को राज्य में पूरी आर्थिक, सामाजिक सुरक्षा दी जा रही है। शिविरों में स्वैच्छिक संस्थाओं के माध्यम से भोजन व ठहरने की व्यवस्था कराई गई हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस