जेएनएन, चंडीगढ़। कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस वे के दोनों ओर दो-दो किलोमीटर के दायरे में बसाए जाने वाले पांचों शहर 'पंचग्राम' के नाम से जाने जाएंगे। हालांकि सभी शहरों का अलग-अलग भी नाम होगा। पंचग्राम डेवलपमेंट अथॉरिटी का ड्रॉफ्ट बिल भी सरकार तैयार कर चुकी है।

पंचग्राम डेवलपमेंट अथॉरिटी का ड्रॉफ्ट तैयार, विधानसभा में बिल लाएगी सरकार

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स के एमएसएमई फंडिंग विषय पर आयोजित सम्मेलन में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ड्रॉफ्ट को कैबिनेट की मंजूरी के बाद विधानसभा में पास किया जाएगा। गोयल ने कहा कि केएमपी एक्सप्रेस-वे हरियाणा की औद्योगिक तस्वीर को पूरी तरह से बदल देगा।

यह भी पढ़ें: वह दुनिया में 36 घंटे के लिए आया और जाते-जाते दो की जिंदगी कर गया राेशन

उद्योग मंत्री ने बताया कि सोनीपत के खरखौदा में 3300 एकड़ भूमि में औद्योगिक एवं वाणिज्यिक टाउनशिप स्थापित की जा रही है। इसी तरह गुरुग्राम के सोहना में 1400 एकड़ भूमि में औद्योगिक मॉडल टाउनशिप विकसित की जा रही है। दोनों टाउनशिप केएमपी से सीधे कनेक्ट होंगी। सोहना की टाउनशिप गुरुग्राम-सोहना-अलवर राजमार्ग से भी जुड़ेगी।

विपुल गोयल ने बताया कि पंचगांव को विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ औद्योगिक गलियारे के तौर पर बसाने की प्लानिंग है। सूक्ष्म, लघु व मध्यम (एमएसएमई) श्रेणी उद्योगों को औद्योगिक क्षेत्र की रीढ़ बताते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इससे कम पूंजी में शुरुआत के साथ बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होते हैं।

यह भी पढ़ें: अब 'शून्य' से बाहर निकलने की जंग लड़ रहा योद्धा, खामोशी में बयां हो रही वीरता की कहानी

उद्योग मंत्री ने कहा कि एमएसएमई नीति पर काम अंतिम चरण में है और जल्द ही नई नीति जारी होगी। निवेश सब्सिडी के साथ ऋण पर ब्याज सब्सिडी, प्रौद्योगिकी अधिग्रहण के लिए सहायता, परीक्षण उपकरणों के लिए मदद, स्टांप ड्यूटी रिफंड के अलावा बिजली के रेट भी छोटे उद्योगों के लिए घटाए गए हैं।

कई नई नीतियां जल्द

उन्‍होंने कहा कि अब नई एमएसएमई नीति के अलावा लॉजिस्टिक वेयर हाउसिंग, खुदरा, फार्मास्यूटिकल, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी सहित कई नई नीतियां उद्योग विभाग तैयार कर रहा है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि सोनीपत के बरही स्थित औद्योगिक सेक्टर में करीब 75 एकड़ भूमि पर मेगा फूड पार्क स्थापित किया जा रहा है। इस परियोजना पर लगभग 177 करोड़ रुपये खर्च होंगे। प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर 12 हजार से अधिक लोगों को रोजगार के साधन यह पार्क विकसित करेगा। गुरुग्राम में 1100 एकड़ भूमि पर 20 अरब अमेरिकी डालर के निवेश के साथ ग्लोबल सिटी बसाई जा रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha