Move to Jagran APP

Haryana News: हरियाणा सरकार के सभी विभागों का डाटा होगा ऑनलाइन, सीएम मनोहर ने विधानसभा में किया एलान

सीएम मनोहर लाल ने बजट सेशन के दौरान एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि अब सरकार के सभी विभागों डाटा ऑनलाइन उपलब्ध रहेगा। उन्होंने आगे कहा कि इजरायल जाने के लिए 8169 युवाओं ने आवेदन किया था। जिसमें से 1909 युवाओं को प्रशिक्षित किया गया और उसमें से 219 का चयन हुआ। आरक्षण को लेकर भी उन्होंने अपनी बात रखी।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar JhaPublished: Tue, 27 Feb 2024 01:59 PM (IST)Updated: Tue, 27 Feb 2024 02:40 PM (IST)
Haryana News: हरियाणा सरकार के सभी विभागों का डाटा होगा ऑनलाइन-मनोहर लाल

जागरण संवाददाता,चंडीगढ़। मुख्यमंत्री मनोहर लाल (CM Manohar Lal) ने बजट सत्र के दौरान मंगलवार को विधानसभा (Haryana Budget Session) में कहा कि हरियाणा सरकार के सभी विभागों का डाटा ऑनलाइन होगा। अब उसे रिकॉर्ड रूम बनाकर प्रदेश और जिला स्तर पर डिजिटल के तौर पर रखा जाएगा।

सरकारी विभाग द्वारा युवाओं को ज्वॉइन करवाना अनिवार्य-मनोहर

मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा कौशल रोजगार निगम (Haryana Skill Employment Corporation) द्वारा रखे जाने वाले कर्मचारियों में अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग से संबंधित आरक्षण का पूर्ण अनुपालन किया जा रहा है। नए प्रावधान एचकेआरएन के माध्यम से एक बार चयन होने के बाद सरकारी विभाग द्वारा युवाओं को ज्वॉइन करवाना अनिवार्य है।

219 युवाओं का इजरायल में रोजगार के लिए हुआ चयन 

219 युवाओं का इजरायल में रोजगार के लिए चयन हुआ है। उन्हें वेतन के रूप में एक लाख से अधिक रुपए मिलेंगे। इजरायल के लिए 8169 युवाओं ने आवेदन किया था, जिसमें से 1909 युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया गया और 219 युवाओं का चयन हुआ।

यह भी पढ़ें: Nafe Singh Rathee Murder Case: राठी हत्याकांड में ये तीन नाम और आए सामने, कांग्रेस के नेताओं पर भी शक

सरकार अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के आरक्षण का रखेगी ध्यान

सरकार अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के लिए 20 और 27 प्रतिशत आरक्षण का विशेष ध्यान रख रही है। यदि पहली भर्ती में आरक्षण की संख्या कम होती है, तो अगली भर्ती में उसे पूरा किया जाता है। मौजूदा बजट के अलावा अगर जरूरत पड़ी तो सप्लीमेंट्री बजट के जरिए कार्य किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बहादुरगढ़ की राजनीति के 'चाणक्य', चौटाला परिवार के करीबी; जानें कौन थे नफे सिंह जिन्हें सरेआम बदमाशों ने उतारा मौत के घाट


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.