राजेश मलकानियां, पंचकूला : पंचकूला पर केंद्र की मोदी सरकार जमकर दरियादिली दिख रही है। अनेक बड़े शिक्षण संस्थानों की स्थापना के बाद अब यहां धार्मिक टूरिज्म की बयार चलने वाली है। केंद्र सरकार के पर्यटन विभाग ने माता मनसा देवी और गुरुद्वारा नाडा साहिब को धार्मिक पर्यटन केंद्र के तौर पर विकसित करने का खाका तैयार कर लिया है। इसके लिए 49 करोड़ 51 लाख 70 हजार रुपये का बजट मंजूर किया गया है, जिसमें से 10 करोड़ रुपये पंचकूला प्रशासन के पास पहुंच चुके हैं। हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष एवं पंचकूला से विधायक ज्ञानचंद गुप्ता ने इसे पंचकूला के विकास में मील का पत्थर बताते कहा कि इस योजना से पर्यटन कारोबार आर्थिक विकास और रोजगार सृजन के इंजन के तौर पर उभरेगा। विधानसभा अध्यक्ष के व्यक्तिगत प्रयासों से पंचकूला के दो धार्मिक स्थानों को इस योजना में स्थान मिला है। इसके तहत अब केंद्र माता मनसा देवी और गुरुद्वारा नाडा साहिब का विकास करवाएगा। माता मनसा देवी मंदिर परिसर में एक करोड़ 11 लाख 22 हजार की लागत से प्लाजा विकसित किया जाएगा, जिसमें अनेक प्रकार के फूलों और सोविनर की दुकानें होंगी। माता का दरबार बनेगा और भव्य

इतना ही नहीं, माता के दरबार की भव्यता को बढ़ाने का खाका भी प्रशासन तैयार कर चुका है। दरबार के अग्रभाग की सुंदरता बढ़ाने के लिए यहां दो करोड़ 63 लाख रुपयों से साज-सज्जा की जाएगी। दूरदराज से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े, इसके लिए 10 करोड़ रुपये से बहुमंजिली वाहन पार्किग बनाई जाएगी। दो करोड़ तीन लाख रुपये शौचालयों और स्नानगारों पर खर्च होंगे। इसके साथ ही यहां सांस्कृतिक गतिविधियों के आयोजन के लिए भी विशेष निर्माण होंगे। बरसात का पानी बचाएंगे

इस सारे विकास के मध्य पर्यावरण और जल संरक्षण पर विशेष ध्यान रखा गया है। इसके लिए वर्षा के पानी को संरक्षित करने की योजना भी बनी है। इस प्रकार गुरुद्वारा नाडा साहिब के विकास पर 25 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि खर्च होगी। इसमें दो करोड़ 63 लाख रुपये इसके प्रवेश द्वार की साजसज्जा की जाएगी। बहुमंजिला पार्किग के लिए 18 करोड़ 54 रुपये निर्धारित किए गए हैं। गुरुद्वारा परिसर में श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए छह मीटर चौड़ी आरसीसी सड़कें बनाई जाएंगी। लोगों की धार्मिक भावनाओं का हुआ सम्मान

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि माता मनसा देवी और गुरुद्वारा नाडा साहिब दोनों धार्मिक स्थल न सिर्फ पंचकूला, अपितु समूचे उत्तर भारत के श्रद्धालुओं के लिए विशेष आस्था के केंद्र हैं। केंद्र की मोदी सरकार ने इनके विकास की जिस प्रकार की योजना बनाई हैं, उससे यहां के लोगों की धार्मिक भावनाओं का सम्मान हुआ है। इससे पहले पंचकूला में 267 करोड़ की लागत से 20 एकड़ में बनने वाला अखिल भारतीय आयुर्वेद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान भी मंजूर हो चुका है। 150 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय फैशन तकनीक संस्थान और 28 करोड़ की लागत वाले बहु तकनीकी एवं कौशल विकास केंद्र भी यहां बनाए जा चुके हैं। सरकार ने किए सराहनीय कार्य

गुप्ता ने कहा कि शहर में संस्कृत महाविद्यालय भी जल्द बनकर तैयार हो जाएगा। अब धार्मिक स्थलों के विकास में रूचि दिखाकर केंद्र सरकार ने सराहनीय कार्य किया है। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट किया है। इस बजट का 20 फीसद हिस्सा पंचकूला प्रशासन को मिल चुका है, जिससे यहां विकास कार्य शुरू हो चुके हैं।