संवाद सहयोगी, तावडू : उपमंडल के गांव जाफराबाद के ग्रामीणों ने गांव में जुआ, सट्टा, नशाखोरी आदि अपराधों पर लगाम लगाने के लिए अनूठी पहल की है। अब गांव में खुले में शराब पीना, जुआ-सट्टा खेलना और विभिन्न उत्सवों पर तेज आवाज में म्यूजिक सिस्टम बजाकर हुड़दंग करने वालों पर 21 हजार रुपये का आर्थिक दंड लगाया जाएगा। इसके लिए गांव के 21 गणमान्य लोगों की कमेटी का गठन किया गया है।

कमेटी के सदस्य सरपंच फखरुद्दीन ने कमेटी के सदस्यों की सूची पुलिस को सौंप कर सहयोग की अपील की है। उन्होंने बताया कि आज के समय में युवाओं में जुआ-सट्टा, नशाखोरी और अवैध शराब का कारोबार जैसी बुराइयां देखने को मिल रही हैं। इस वजह से गांव में युवाओं पर पड़ रहे विपरीत प्रभाव को देखते हुए सरकारी स्कूल के प्रांगण में गणमान्य लोगों की बैठक हुई। इस बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि अब गांव में जो कोई भी खुले में शराब का सेवन, जुआ-सट्टा खेलते हुए और अन्य किसी नशे के कारोबार में संलिप्त पाया गया तो उस पर 21 हजार रुपये का आर्थिक दंड लगाने के साथ ही उसका सामाजिक बहिष्कार भी किया जाएगा। इसके साथ ही कमेटी की ओर से अपराध पर रोकथाम लगाने के लिए पुलिस का भी सहयोग लिया जाएगा। इस कमेटी में असरू फौजी, पूर्व सरपंच छोटू खान, पूर्व सरपंच पप्पू, पंच कम्मू, जुहरदीन, रति मोहम्मद, हाकम नंबरदार, अशोक, प्रकाश चौकीदार, सत्तार,हुरमत, लल्लू और जाफराबाद के पूर्व सरपंच जान मोहम्मद के अलावा शेरू, पहलू को सदस्य बनाया गया है।

Edited By: Jagran