नूंह, जागरण संवाददाता। फरीदाबाद पुलिस टीम द्वारा ठगी के एक मामले में हिरासत में लिए गए जमालगढ़ निवासी युवक की शुक्रवार रात अस्पताल में मौत हो गई। युवक को दो जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने उसे पकड़ने के दूसरे दिन ही छोड़ दिया था। जुनैद के स्वजन व सगे संबंधियों का आरोप है कि युवक की कथित हिरासत में इतना पीटा गया जिसके चलते उसकी मौत हुई।

पुलिस की गाड़ी पर लाठी-डंडों से किया हमला

शनिवार को ग्रामीणों ने जुनैद के शव को पहले दोपहर करीब बारह बजे जमालगढ़ गांव के पास सड़क पर रख जाम लगाया। फिर कुछ देर बाद पुन्हाना के पास होडल रोड पर शव रख सड़क जाम कर दी। सूचना पाकर सिटी पुलिस चौकी की टीम मौके पर पहुंची तो उग्र हुई भीड़ ने पुलिस वाहन पर डंडे बरसाए। हालात देख पुलिसकर्मी एक वाहन लेकर तो चले गए पर जिप्सी को भीड़ में शामिल लोगों ने आग लगा दी।

ठगी के आरोप में उठा कर ले गयी थी पुलिस

सूचना पाकर पुलिस अधिकारी अतिरिक्त पुलिस बल के साथ पहुंचे और बलपूर्वक भीड़ को हटा सड़क खाली कराई। इसके बाद तीन से चार किलोमीटर तक दोनों ओर कतार में खड़े वाहन आगे बढ़ सके। ग्रामीणों का आरोप है कि 31 मई को जमालगढ़ निवासी जुनैद को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की एक टीम ओएलएक्स पर लोगों से ठगी करने के आरोप में उठाकर ले गई थी। पूछताछ कर जुनैद को एक जून को पुलिस ने छोड़ दिया था। जुनैद के स्वजन का आरोप है कि पूछताछ के दौरान पुलिस ने जुनैद को इस कदर पीटा की उसकी हालत गंभीर हो गई। वह चल नहीं पा रहा था। उसे होडल के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। 11 जून की देर रात जुनैद की मौत हो गई।

ग्रामीणों ने लगाया जाम

सुबह पहले ग्रामीणों ने जुनैद के शव को रखकर जमालगढ़-पुन्हाना रोड को जाम कर दिया फिर होडल रोड को जाम कर दिया। भीड़ में शामिल लोग पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। भीड़ उग्र होने से पहले पुन्हाना क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक मोहम्मद इलियास मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों का समर्थन करते हुए पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के साथ ही आरोपित पुलिस जवानों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग करने लगे।

पुलिस की गाड़ी में  लगाई आग

दोपहर दो बजे करीब जब पुलिसकर्मियों ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी। ढाई बजे पहुंचे अतिरिक्त बल की मदद से पुलिस अधिकारियों ने उग्र भीड़ को बलपूर्वक हटाकर सड़क खाली कराई। दोपहर बाद साढ़े तीन बजे पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारनियां पुन्हाना पहुंचे। उन्होंने हालात का जायजा लेने के साथ ही पुलिस अधिकारियों को हालात को लेकर सख्ती से निपटने के निर्देश भी दिए। क्षेत्र में तनाव को देखते हुए आइआरबी व रैपिड एक्शन फोर्स के जवान तैनात कर दिए गए। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कानून हाथ में लेने वाले पर कार्रवाई होगी। जुनैद के शव को पोस्टमार्टम के लिए मांडीखेड़ा स्थित जिला अस्पताल भेजा गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

Edited By: Prateek Kumar