जागरण संवाददाता, पुन्हाना:

पुन्हाना क्षेत्र के लोगों को सस्ता व अपने शहर में ही न्याय देने के उद्देश्य से चलाई गई देश की पहली मोबाइल कोर्ट वर्तमान में सप्ताह के चार दिन पिनगवां में व सप्ताह के बाकी दिन फिरोजपुर झिरका में न्याय सुलभ करा रही है। इससे पुन्हाना उपमंडल के गांवों के लोगों को अपने कोर्ट संबंधित कार्यों को लेकर पिनगवां व फिरोजपुर झिरका के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। इससे यहां के लोगों को समय के साथ ही आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। इस मुद्दे को लेकर फिरोजपुर झिरका बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं द्वारा कई बार मोबाइल कोर्ट को पिनगवां से पुन्हाना शिफ्ट करने की मांग भी की गई, लेकिन पुन्हाना में कोर्ट के लिए प्रशासन द्वारा कोई उचित जगह मुहैया ना करा पाने के चलते अभी तक मांग को पूरा नहीं किया गया है।

अधिवक्ताओं से लेकर लोगों का कहना है कि कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नूंह में एक जनसभा के दौरान पुन्हाना को उपमंडल घोषित किया था। पुन्हाना से फिरोजपुर झिरका की दूरी करीब पचास किलोमीटर है। जहां तक आना-जाना लोगों के लिए महंगा पड़ता है। वर्तमान में मोबाइल कोर्ट पिनगवां गांव के उस क्षेत्र में स्थापित है जहां फोटो स्टेट, स्टेशनरी, परचून व जनसुविधाएं उपलब्ध नहीं है। मोबाइल कोर्ट यहां पर सप्ताह के चार दिन न्याय सुलभ करा रही है और सप्ताह के बाकी दिन फिरोजपुर झिरका में। इससे खंड के लोगों को न्याय पाने व अपने मुकदमे की पैरवी के लिए पिनगवां जाना पड़ रहा है। बार एसोसिएशन के प्रधान मुमताज एडवोकेट ने बताया कि अगर प्रशासन पुन्हाना में मोबाइल कोर्ट के लिए जगह मुहैया करा दें तो जल्द ही पुन्हाना में कोर्ट लगने के साथ ही यहां के लोगों को काफी फायदा होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप