जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : विश्वभर में पूर्व छात्रों के पंजीकरण में नंबर एक पर पहुंची करुक्षेत्र के विद्या भारती की पूर्व छात्र परिषद ने लिम्का बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराने के लिए आवेदन किया है। परिषद ने गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड के लिए भी ईमेल से आवेदन किया है। गिनीज बुक कार्यालय ने कोविड के चलते सामान्य दिनों में आवेदन करने की कही है। इसके लिए परिषद ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। गिनीज बुक और लिम्का बुक में नाम दर्ज करवाने को लेकर परिषद के पदाधिकारियों में पूरा उत्साह है।

गौरतलब है कि विद्या भारती पूर्व छात्र परिषद ने 17 अक्टूबर को मेरा स्कूल मेरा गौरव नाम से ऑनलाइन पंजीकरण अभियान चलाया था। अभियान के पहले ही दिन 19 देशों के 12 हजार पूर्व छात्रों ने अपना पंजीकरण किया था। अमेरिका की पेन यूनिवर्सिटी के 3.54 लाख के पंजीकरण को पछाड़ कर पहला स्थान हासिल किया। इस लक्ष्य पर चलते हुए 20 नवंबर तक पंजीकरण संख्या 3.12 लाख तक पहुंचने पर विश्व भर में दूसरे स्थान पर जगह बना ली। इसके बाद 30 नवंबर को पंजीकरण संख्या पहले स्थान पर पहुंच गई थी। कर दिया है आवेदन

विद्या भारती पूर्व छात्र परिषद के अध्यक्ष डा. पंकज शर्मा ने बताया कि विश्व भर में सबसे अधिक पंजीकरण संख्या होने के बाद अब उन्होंने लिम्का बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज करवाने के लिए आवेदन किया है। लिम्का बुक कार्यालय एक कमेटी गठित कर जांच करेगा। इसके बाद प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकार्ड के लिए भी ई-मेल किया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021