जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र :

जादूगर शंकर सम्राट ने रविवार को दर्शकों को अपनी जादू की कला के मोहपाश में बांधकर रखा। इस शो में दो घंटे दर्शक जहां हंस-हंसकर लोटपोट हो गए, वहीं कुछ क्षणों पर दर्शकों को सोचने पर मजबूर कर दिया। इस शो के जरिए जहां लोगों का मनोरंजन किया गया, वहीं पर्यावरण बचाने, गीता के संदेश, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और नशा मुक्ति जैसे विषयों पर संदेश भी दिया। महोत्सव के अवसर पर मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर में जादूगर शंकर सम्राट के पहले शो का शुभारंभ लाडवा एसडीएम अनिल यादव ने किया। उन्होंने कहा कि जादू की कला का प्रयोग केवल मनोरंजन के लिए किया जाना चाहिए। इस कला का कभी दुरुपयोग नहीं करना चाहिए। इस कला को रोजगार के रुप में भी देखना चाहिए, क्योंकि आज इस प्रकार की कलाएं लुप्त होती जा रही हैं। जादूगर शंकर सम्राट इस कला को संरक्षित करने का काम कर रहे हैं। जादूगर शंकर सम्राट, जूनियर जादूगर शंकर सम्राट और टीम के अन्य सदस्यों ने शो में कपड़ों से कबूतर बनाना, छतरी बनाना, लड़की को गायब करना, हथकड़ी बांधकर व्यक्ति को गायब करना, एक महिला के दो टुकड़े करना सहित विभिन्न प्रकार की कलाएं सबके समक्ष रखी। दर्शकों से भरे खचाखच सभागार ने तालियां बजाकर जादू की कला को सम्मान दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस