संवाद सहयोगी, इंद्री : अनाजमंडी में किसान यूनियन के नेताओं ने बैठक की और फसल खरीद व्यवस्था का जायजा लेने के लिए मंडी के अंदर पहुंचे। उन्होंने धान की खरीद नहीं होने पर रोष प्रदर्शन किया। कई किसानों ने यूनियन के प्रतिनिधियों से कहा कि उनकी धान को औने-पौने दामों में खरीदी जा रही है, इससे उन्हें नुकसान हो रहा है। खफा किसानों ने किसान यूनियन के नेताओं के साथ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। किसान नेताओं ने कहा कि 26 तारीख को पानीपत में आयोजित कार्यक्रम में वरिष्ठ किसान नेता राकेश टिकैत समेत कई किसान नेता पहुंचेंगे, जिसमें बड़ी संख्या में पहुंचे और मंडी में आढ़तियों व किसानों से अपील की गई कि 27 तारीख को किसानों के भारत बंद में भी पूर्ण सहयोग करें।

किसान यूनियन के संगठन मंत्री नेता शाम सिंह, ब्लाक अध्यक्ष दिलावर सिंह, कुरुक्षेत्र प्रभारी नेकीराम, युवा जिला प्रधान नरिद्र सिंह श्योरण ने कहा कि एमएसपी पर कानून बनना चाहिए ताकि किसानों को अपनी फसल ओने- पौने दामों पर ना बेचनी पड़े। इसी को लेकर के पिछले काफी समय से किसान आंदोलनरत हैं। 25 सितंबर से धान की खरीद की घोषणा थी लेकिन अभी तक इन्द्री की अनाज मंडी में ना तो बारदाना आया है और ना ही किसी प्रकार की कोई व्यवस्था की गई है। किसानों का आरोप है कि सरकार जानबूझकर धान की सरकारी खरीद में देरी कर रही है जबकि किसानों की फसल पककर तैयार हो गई हैं। ऐसे में सरकार को चाहिए कि 25 तारीख को धान की खरीद शुरू करें ताकि किसानों को किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि 25 तारीख तक धान की खरीद शुरू नहीं हुई तो आंदोलन करने से पीछे नहीं हटेंगे। इस मौके पर जिला प्रधान यशपाल राणा, सुरेंद्र सिंह, सुरेंद्र शर्मा, शबीर हैदर, संजय कांबोज मौजूद थे।

Edited By: Jagran