कैथल, जागरण संवाददाता। स्पेन में चल रही विश्व यूथ महिला मुक्केबाजी स्पर्धा में खिलाड़ी लासू यादव ने कांस्य पदक अपने नाम कर लिया है। बुधवार देर रात लासू का सेमीफाइनल मुकाबला हुआ था, जिसमें वह हार गई और कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। लासू यादव ने इस स्पर्धा में 70 किलो भार वर्ग में भाग लिया था।

वहीं 81 प्लस किलो भारवर्ग में भाग ले रही खिलाड़ी कीर्ति ढुल ने अपना सेमीफाइनल मुकाबला जीत कर फाइनल में जगह बना ली है। कीर्ति ने कजाकिस्तान की खिलाड़ी को हराया है। खिलाड़ी का फाइनल मुकाबला आयरलैंड की खिलाड़ी के साथ 26 नवंबर को होगा।

कोच गुरमीत सिंह, विक्रम ढुल और राजेंद्र सिंह ने बताया कि कैथल की एक बेटी ने कांस्य पदक जीत लिया है। उन्हें उम्मीद है कीर्ति इस बार स्वर्ण पदक लेकर ही भारत लौटेगी। बता दें कि 14 से 26 नवंबर तक स्पेन में स्पर्धा होनी है। प्रदेश से आठ महिला खिलाड़ियों ने भाग लिया, जिसमें से दो कैथल की हैं। स्पर्धा खत्म होने के बाद ही होने खिलाड़ी भारत लौटेंगी। दोनों खिलाड़ी अंबाला रोड स्थित इंडोर खेल स्टेडियम में अभ्यास करती हैं। रोजाना तीन से चार घंटे मैदान में पसीना बहाती हैं, जिस कारण पदक जीत कर जिले का नाम रोशन कर रही हैं।

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रहे हैं चाचा विक्रम ढुल

कीर्ति ढुल के चाचा और कोच विक्रम ढुल अंतरराष्ट्रीय स्तर के बाक्सर रहे हैं। चाचा को देखकर ही कीर्ति ने खेला शुरू किया था। विक्रम सिंह खिलाड़ी को मैदान के साथ-साथ समय मिलने पर घर में भी अभ्यास करवाते हैं। यही कारण है कि कीर्ति कई बार देश का नाम रोशन कर चुकी है। इससे पहले भी कीर्ति ने दुबई में हुई एशियन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक और जार्डन में हुई स्पर्धा में रजत पदक हासिल किया था। सर्बिया में हुई हुई स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया था। वह पांच बार राष्ट्रीय चैंपियन रह चुकी है।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट