Move to Jagran APP

Haryana Weather Update: हरियाणा में पश्चिमी विक्षोभ का दिखा असर, दो दिन और बारिश के आसार

14 मार्च तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा। ऐसे में किसान तुरंत सिंचाई रोक दे। इस दौरान बादलवाई होने के साथ तेज हवा भी चल सकती है कुछ स्थानों में बूंदाबांदी हो सकती है। आज और कल मौसम अधिक परिवर्तनशील रहने की उम्मीद है। किसान मौसम को देखकर फसलों में स्प्रे करे।

By Manoj KumarEdited By: Published: Fri, 12 Mar 2021 11:44 AM (IST)Updated: Fri, 12 Mar 2021 11:44 AM (IST)
14 मार्च तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील, 15 को मौसम हो जाएगा साफ

हिसार/फतेहाबाद, जेएनएन। हरियाणा में मौसम ने फिर करवट बदली है। गुरुवार देर रात करीब दो बजे मौसम एक दम से बदल गया। बादल गरजने लगे, तेज हवा चलने लगी, बूंदाबांदी भी शुरू हो गई। पश्चिमी विक्षोभ का आंशिक प्रभाव व राजस्थान राज्य के आसपास साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम बना है। रात के समय तेज हवा आने के कारण 10 दिन पहले सिंचाई की गई गेहूं की फसल भी जमीन पर बिछ गई है। जिससे किसानों को आर्थिक नुकसान हुआ है। शुक्रवार सुबह से ही बादल छाए हुए है और तेज हवा चल रही है। जिससे किसानों की परेशानी बढ़ा दी है। मौसम विभाग की माने तो शनिवार व रविवार को बरसात होने की संभावना है। अगर बरसात हुई तो नुकसान के अलावा कुछ नहीं होगा।

मौसम विभाग के इस अलर्ट ने किसानों को डरा दिया है। इस समय सरसों की कटाई शुरू हो गई है वही गेहूं की फसल में दाना पड़ने का सही समय है। अगर तेज हवा के साथ बरसात होती है तो फसल जमीन पर बिछ जाएगी जिसका उत्पादन पर असर पड़ेगा। पिछले तीन चार दिनों से तापमान भी ऊपर नीचे हो रहा है। देररात को बरसात होने के कारण तापमान में 2 डिग्री की कमी आई है। वीरवार को अधिकतम तापमान 31 डिग्री व न्यूनतम 16 डिग्री था। लेकिन वीरवार रात को हुई बरसात के कारण अधिकतम तापमान 29 डिग्री व न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है।

मौसम आधारित कृषि सलाह

- मौसम में बदलाव की संभावना को देखते हुए अगले दो-तीन दिन विशेषकर गेहूं की फसल में सिंचाई रोक ले।-हवाएं चलने की संभावना को देखते हुए अगेती सरसों की फसल जो पकने की अवस्था में है उसे अगले दो दिन कटाई न करे।

- फसल की कटाई कर ली है तो बंडल अच्छी प्रकार से बांध लें ताकि हवाएं चलने से उड़ न सके।

- हल्की बारिश व हवाएं चलने की संभावना को देखते हुए अगले दो दिन फसलों में स्प्रे रोक ले।

हवा का रूख भी बदला

मौसम विभाग द्वारा मौसम बदलने की आशंका जताने के बाद हवा का रूख भी बदल गया है। पूर्वी हवाएं चल रही है। देर रात को हवा की गति 50 किलोमीटर प्रति घंटे थी, लेकिन शुक्रवार सुबह से 12 किमी प्रति घंटे से हवा चल रही है। हवा चलने के कारण अनेक जगह गेहूं की फसल जमीन पर बिछ गई थी। यहीं कारण है कि किसानों ने मौसम विभाग के इस अलर्ट के बाद गेहूं की फसल में सिंचाई करनी बंद कर दी है। अगर कोई किसान सिंचाई करेगा तो इसका परिणाम भी भुगतना पड़ सकता है। गांव दरियापुर के किसान रमेश कुमार, सुरेश व भिरडाना के किसान सुखविंद्र सिंह ने बताया कि अगर इस समय बरसात होगी तो नुकसान अधिक होगा। ऐसे में उन्होंने सिंचाई रोक दी है। पिछले साल भी बरसात के साथ ओले गिरे थे।

----14 मार्च तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा। ऐसे में किसान तुरंत सिंचाई रोक दे। इस दौरान बादलवाई होने के साथ तेज हवा भी चल सकती है कुछ स्थानों में बूंदाबांदी हो सकती है। आज और कल मौसम अधिक परिवर्तनशील रहने की अधिक उम्मीद है। किसान मौसम को देखकर फसलों में स्प्रे करे।

डा. मदन खीचड़, विभागाध्यक्ष, कृषि मौसम विज्ञान विभाग चौधरी चरणसिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.