Move to Jagran APP

'सिर्फ केजरीवाल बाहर आया, मुख्यमंत्री अभी भी जेल में', दिल्ली CM की जमानत पर बोले पूर्व हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत मिल चुकी है। ऐसे में हरियाणा के पूर्व गृह मंत्री अनिल विज की प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने केजरीवाल की रिहाई को लेकर कहा कि अनिल विज जेल से सिर्फ अरविंद केजरीवा की रिहाई हुई है। मुख्यमंत्री अभी भी जेल में बंद है। केजरीवाल को जमानत कुछ शर्तों के साथ मिली है। इसलिए विज ने यह बात कही।

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Published: Sat, 11 May 2024 07:00 PM (IST)Updated: Sat, 11 May 2024 07:00 PM (IST)
Anil Vij: मुख्यमंत्री अभी भी जेल में', दिल्ली CM की जमानत पर बोले पूर्व हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज

दीपक बहल, अम्बाला। Haryana News: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाई कोर्ट ने 51 दिन बाद सशर्त जमानत देने पर हरियाणा के पूर्व गृह मंत्री अनिल विज ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जो जेल गया था वो मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल था और जमानत सिर्फ केजरीवाल की हुई है। मुख्यमंत्री अभी भी जेल के अंदर है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री न तो हस्ताक्षर कर सकते हैं और न ही कार्यालय जा सकते हैं। उन पर कई पाबंदियां लगाई गई हैं। इसलिए मुख्यमंत्री अभी भी अंदर है, केवल अरविन्द केजरीवाल ही बाहर आया है।

पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे अनिल विज

पत्रकारों से बातचीत करते हुए अनिल विज ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होनें कहा कि अब वह बताएंगे कि नरेंद्र मोदी जीतेंगे या नहीं। उन्होंने राहुल को लेकर सवाल किया कि चुनाव में अगर वे दोनों सीट जीत जाते हैं तो कौन सी छोड़ेंगे। क्योंकि वायनाड के लोगो को ये चिंता हो रही है कि वे कहीं यूपी न भाग जाए और यूपी वालों को ये चिंता सता रही है कि कहीं वो वायनाड न भाग जाएं। 

यह भी पढ़ें- Haryana News: 'जबरदस्ती कराई नसबंदी और अब...', कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी पर अनिल विज का पलटवार

राजनीति अपनी जगह है और व्यक्तिगत रिश्ते जो है वो अलग है - विज

वही, गत दिनों कांग्रेस प्रत्याशी वरुण मुलाना के भाजपा कार्यालय पर अपना काफिला रोकने पर पूर्व मंत्री अनिल विज ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वे भाजपा कार्यकर्ताओ के साथ बैठे थे कि तभी तीन गाड़िया रुकी जिसमे वरुण व अन्य कांग्रेसी नेता भी थे जो आकर उनके पास बैठ गए।

शिष्टाचार के नाते उन्होंने उन सभी को जलपान करवाया और अगर इस पर भी कोई एतराज उठाता है तो उन्हें राजनीति में नहीं रहना चाहिए क्योंकि शिष्टाचार तो सबके साथ है। ऐसा नहीं है कि कोई आये और उन्हें जलपान न करवाए।

अनिल विज ने कहा कि जो व्हाट्सअप पर चल रहा है कि ‘‘मैंने आशीर्वाद दे दिया ये गलत है, हाँ उन्होंने मेरे पाँव भी छुए और दस बार कहा कि आशीर्वाद दे दो लेकिन राजनीति अपनी जगह है और व्यक्तिगत रिश्ते जो है वो अलग है’’।

अगर किसी ने कोई बात कहनी है तो वोट से बड़ा कुछ नहीं होता - विज

इधर, जीन्द की उचाना मंडी मे प्रचार के दौरान नैना चौटाला के काफिले पर पथराव होने पर दिग्विजय चौटाला ने कांग्रेस पर अंदेशा जताने पर अनिल विज ने कहा कि इसकी संभावना हो भी सकती है लेकिन ये गलत है क्योंकि ये प्रजातंत्र का उत्सव है इसे उत्सव की ही तरह से मानना चाहिए।

विज ने कहा कि अगर किसी ने कोई बात कहनी है तो वोट से बड़ा कुछ नहीं होता। विज ने कहा कि जो भी इस तरह की जोर आजमाश कर रहा है ये गलत है क्योंकि चुनाव प्रदेश में शांतिप्रिय होते है और इस बार भी शांति प्रिय होने चाहिए।

यह भी पढ़ें- हरियाणा में अगर हुआ फ्लोर टेस्ट तो अध्यक्ष निभा सकते हैं निर्णायक भूमिका, इस स्थिति में ही कर सकते हैं वोट


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.