हिसार, जेएनएन। करनाल में लाठी चार्ज के विरोध में हिसार में किसान सड़कों पर उतर आए। हिसारों में चारों टोल पर किसानों ने जाम लगा दिया। दिल्ली-हिसार रोड पर वाहनों की कतारें लग गई। धूप और उमस में लोग परेशान होते रहे। पुलिस आंदोलनकारी किसानों को समझाने में जुटी रही लेकिन किसान जाम खोलने को तैयार नहीं हुए।

गौरतलब है कि करनाल में सीएम के कार्यक्रम के दौरान किसानों ने काले झंडे लेकर विरोध जताया था। चंडीगढ़ दिल्ली-हाईवे पर किसानों ने जाम लगाया इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जिसमें करीब एक दर्जन किसान घायल हो गए। इस घटना के बाद भाकियू प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने किसानों के नाम वीडियो संदेश जारी किया। किसानों से सभी टोल पर जाम लगाने का आह्वान किया। उनके आह्वान के बाद पूरे हरियाणा में किसान सड़कों पर उतर आए। हिसार समेत सभी जिलों में किसानों ने हाईवे जाम कर दिए। सरकार के खिलाफ प्रदर्शनकारी किसानों ने जमकर नारेबाजी की।

किसानों पर लाठीचार्ज के विरोध में बहादुरगढ़ में सरकार का पुतला फूंकते किसान।

चारों टोल पर धरने पर बैठे किसान 

हिसार में मय्यड़, चौधरी वास समेत चारों टोल पर किसान धरने पर बैठ गए। दिल्ली-हिसार हाईवे पर भी जाम लगा दिया। रोड के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लंबी कतारें लग गई। काफी देर तक लोग परेशान होते रहे। इसके बाद लोगों ने गांव के रास्तों से आवागमन किया। इस कारण गांव के रास्तों पर भी जाम जैसे हालत है। लोग परेशान होते दिखे।

हिसार में मय्यड़ टोल प्लाजा पर किसानों ने जाम लगाया। वाहनों की कतारें लग गईं।

सरकार का पुतला फूंका

बहादुरगढ़ में किसानों ने सरकार का पुतला फूंका, किसानों पर लाठीचार्ज की घटना की निंदा की। सिरसा में भी किसान सड़कों पर उतरे, हिसार रोड़ पर भावदीन टोल प्लाजा और डबवाली के पास खुईयां मलकाना टोल प्लाजा पर जाम लगा दिया। सिरसा के ओढ़ा रोड़ पर  भी किसान धरने पर बैठ गए। फतेहाबाद में भूना में चंडीगढ़ हाईवे पर किसानों ने जाम लगाया और जमकर नारेबाजी की। भिवानी, चरखीदादरी और रोहतक में भी किसान जाम लगाने की तैयारी कर रहे है। 

झज्जर में ढांसा बार्डर पर लगाया जाम

झज्जर में ढांसा बार्डर पर धरना दे रहे किसानों ने भी जाम लगा दिया है। अब तक किसानों का धरना केवल रोड के एक तरफ चल रहा था और दूसरी तरफ से वाहनों का आवागमन जारी था। लेकिन करनाल की घटना के बाद किसानों ने जाम लगाते हुए कहा कि पुलिस ने किसानों के साथ गलत किया है। जाम लगाने के बाद वाहनों का आवागमन भी प्रभावित रहा। लोग दिल्ली जाने के लिए ढांसा बार्डर से ही गुजरने लगे थे, लेकिन जाम के कारण यह आवागमन भी प्रभावित रहा। साथ ही चेतावनी दी कि सरकार अगर किसानों पर बर्बरता करेगी, तो वे इसका डटकर जवाब देंगे।

Edited By: Rajesh Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट