हिसार, जेएनएन। गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय में शुक्रवार को कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष्य पर हरियाणा के कारगिल शहीद परिवारों को सम्मानित किया जाएगा। कारगिल युद्ध में प्रदेश के 74 वीर जवान शहीद हुए थे। समारोह विश्वविद्यालय के चौधरी रणबीर सिंह सभागार में हरियाणा इतिहास अकादमी और जम्मू कश्मीर अध्ययन केन्द्र के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया जाएगा। कर्नल योगेन्द्र सिंह समारोह में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित होंगे। इस अवसर पर हरियाणा इतिहास अकादमी के अध्यक्ष प्रो. रघुवेन्द्र तंवर भी मौजूद रहेंगे।

गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने बताया कि कारगिल विजय दिवस भारत के लिए एक गौरव की अनुभूति करवाने वाला दिवस है। यह दिवस हमारे देश की सेनाओं के शौर्य का प्रत्यक्ष प्रमाण है। उन्होंने कहा कि शहीद परिवारों का सम्मान हम सबकी जिम्मेदारी बनती है, क्योंकि शहीद परिवारों के लाडलों ने ही युद्ध में अपना सर्वोच्च बलिदान अपने प्राण तक न्यौछावर किए हैं।

कारगिल युद्ध से संबंधित हथियारों की लगेगी प्रदर्शनी

समारोह में भारतीय सेना के सौजन्य से प्रथम, द्वितीय व कारगिल युद्ध से संबंधित हथियारों की एक प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इसके अतिरिक्त हरियाणा इतिहास अकादमी द्वारा एक विशेष प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जाएगा, जिसमें हरियाणा की सैन्य परम्परा व वीर जाबाजों और कारगिल शहीदों के कारनामों को दर्शाते चित्र होंगे। इस दौरान कारगिल युद्ध से संबंधित एक डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई जाएगी। इस संबंध में कुलपति कार्यालय के कमेटी हाल में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें समारोह की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

बैठक में जम्मू कश्मीर अध्ययन केन्द्र के उपाध्यक्ष डा. प्रदीप, हरियाणा इतिहास अकादमी के सहायक निदेशक डा. जगदीश, डा. सुरेन्द्र, कार्यक्रम के संयोजक डा. महेन्द्र ङ्क्षसह, सह-संयोजक डा. नरेन्द्र, कमेटी सदस्य प्रो. आर. बास्कर, प्रो. संदीप राणा, प्रताप ङ्क्षसह मलिक, डा. राजीव, डा. अनिल भानखड़, डा. विकास वर्मा, डा. कुलदीप, सत्यपाल ङ्क्षसह, दिनेश चुघ व बिजेन्द्र दहिया मौजूद रहे।

Posted By: manoj kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप