जागरण संवाददाता, हिसार। ओलंपिक में देश का नाम रोशन करने वाली कुश्ती खिलाड़ी साक्षी मलिक के नाम पर चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय एक्सीलेंस सेंटर बनाया जाएगा। इसको लेकर हकृवि प्रशासन साई के अधिकारियों के साथ मिलकर केंद्र सरकार व राज्य सरकार दोनों से पत्र व्यवहार करेंगे। ताकि साक्षी मलिक की तरह युवाओं में स्पोर्ट्स के प्रति जज्बा पैदा कर सकेंं।

हकृवि के कुलपति प्रो. केपी सिंह ने बताय कि वे विश्वविद्यालय में उपलब्ध खेल सुविधाओं को अंतरराष्ट्रीय स्तर ले जाने का प्रयास कर रहे हैं। प्रो. सिंह ने साई के अधिकारियों से ओलंपिक खेलों में कुश्ती स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने वाली हरियाणा की बेटी साक्षी मलिक के नाम पर गिरी सेंटर में कुश्ती के साथ अन्य खेलों के लिए सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने का एक प्रस्ताव पास किया है। इस प्रस्ताव को उन्होंने केन्द्र व राज्य सरकारों को भेजने की सिफारिश की है।

पढ़ें : साक्षी होंगी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान की ब्रांड एंबेसडर

साई को सौंप रखा है खेल सेंटर

वर्ष 2001 में एक समझौते के तहत हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय ने खेल सेंटर का कुछ क्षेत्र एवं अन्य सुविधाएं साई को सौंप दी थी। कुछ दिनों पहले रात के समय कुलपति ने साई सेंटर के भवन व अन्य सुविधाओं का निरीक्षण किया था। उस समय सेंटर के हालात बेहद खस्ता नजर आए।

इसी को लेकर कुलपति डॉ. केपी सिंह ने शुक्रवार को साई, लुवास व हकृवि अधिकारियों के साथ बैठक की। साई सेंटर में खिलाडिय़ों के लिए सभी मूलभूत व आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाने के आदेश दिए ।

पढ़ें : पढ़ें : कुश्ती की सुल्तान का शाही स्वागत, मुख्यमंत्री ने सौंपा ढाई करोड़ का चेक

गिरी व साई में यह हैं सुविधाएं

यहां एथलेटिक्स, डिस्कस थ्रो, कुश्ती, बॉक्सिंग, हॉकी खेलों की सुविधाएं है। मगर, सालों से नई खेल सुविधाएं नहीं आई है। यही वजह है कि सांई की हॉकी खिलाडिय़ों के अलावा कोई अन्य खिलाड़ी देश में अपना नाम नहीं चमका पाया है। इसलिए हकृवि प्रशासन अन्य खेलों पर फोक्स बनाने के लिए एक्सीलेंस सेंटर बनाने की तैयारी कर रहा है।

हरियाणा की ताजा और बड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt