भिवानी, जेएनएन। हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटेट) के प्रश्‍न पत्र लीक होने से रोकने के लिए इस बार पुख्‍ता व्‍ववस्‍था की गई है। इसके लिए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने हर परीक्षार्थी को अलग-अलग प्रश्‍नपत्र देने की व्यवस्था की है। इसके लिए प्रश्‍नपत्र चार कोड में तैयार किए गए हैं। इसके साथ ही एचटेट परीक्षा का समय ढाई घंटे ही रहेगा।

परीक्षा से एक दिन पहले प्रश्‍नपत्र जिला मुख्यालयों पर भेज दिए जाएंगे। यह संदूकों में भेजे जाएंगे और हर संदूक पर दो ताले होंगे। दो-दो चाबियां होंगी। इनमें से एक चाबी बोर्ड के प्रतिनिधि व दूसरी संबंधित जिला उपायुक्त के प्रतिनिधि के पास रहेगी। सभी प्रश्न पत्र संदूक में सील करके रवाना किए जाएंगे और इसकी वीडियोग्राफी कराई जाएगी।

इसके साथ ही खजाना कार्यालय से परीक्षा केंद्र पर परीक्षा के दिन ही पुलिस सुरक्षा में प्रश्न पत्रों को ले जाया जाएगा। परीक्षा शुरू होने से केवल दस मिनट पहले ही संदूक के ताले खोले जाएंगे। इसकी भी वीडियोग्राफी भी होगी। 

15 व 16 नवंबर को भेजे जाएंगे प्रश्न पत्र

शिक्षा बोर्ड मुख्यालय से प्रश्न पत्र परीक्षा से एक दिन पहले ही जिला मुख्यालयों के लिए भेज दिए जाएंगे। 16 नवंबर की परीक्षा के लिए 15 नवंबर को ही भेज दिए जाएंगे व 17 नवंबर की परीक्षा के लिए 16 नवंबर को बोर्ड मुख्यालय से परीक्षा केंद्र भेज दिए जाएंगे। 16 नवंबर परीक्षा शाम तीन बजे से 5.30 बजे तक आयोजित की जाएगी।  17 नवंबर को सुबह 10 से 12.30 बजे तक और शाम को 3 से 5.30 बजे तक परीक्षा आयोजित की जानी है।

यह भी पढ़ें: Haryana Cabinet Extension: अनिल विज, गुर्जर, मूलचंद व संदीप सहित आठ मंत्री आज लेंगे शपथ

चार प्रकार के होंगे प्रश्नपत्र

बोर्ड प्रशासन ने चार प्रकार के प्रश्न पत्र तैयार करवाए हैं। इनमें ए, बी,सी व डी कैटेगरी नाम दिया गया है। परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थियों को इसी क्रम में प्रश्न पत्रों का वितरण किया जाएगा, ताकि कोई भी परीक्षार्थी अपने आगे वाले या पीछे वाले परीक्षार्थी से नकल कर मदद न ले सके।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें: Haryana Cabinet Extension: CM मनोहरलाल की नए मंत्री शामिल करने से पहले डिनर पॉलिटिक्‍स

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप