नई दिल्ली/गुरुग्राम, एएनआइ। कोरोना वायरस संक्रमण के कहर के बीच सीपीएम नेता सीताराम येचुरी के बड़े बेटे आशीष येचुरी की कोरोना से मौत हो गई। दिल्ली से सटे गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में आशीष येचुरी की मौत हुई है। सीताराम येचुरी ने बृहस्पतिवार को खुद ट्वीट कर इस हादसे की जानकारी दी। कोरोना के कारण उनके बड़े बेटे आशीष येचुरी का बृहस्पतिवार सुबह निधन हो गया। येचुरी के बेटे का पिछले कई दिनों से गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। बताया जा रहा है कि आशीष येचुरी की उम्र तककरीब 35 साल थी। यह भी जानकारी मिली है कि दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां दो सप्ताह से आशीष का इलाज चल रहा था। वहीं, स्थिति ज्यादा गंभीर होने पर उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

सीताराम येचुरी ने ट्वीट किया- 'बेहद दुख के साथ यह बताना पड़ रहा है कि कोरोना के कारण मैंने अपने बड़े बेटे आशीष येचुरी को खो दिया। मैं उन सभी का शुक्रिया कहना चाहता हूं जिन्होंने हमारी उम्मीद बांधे रखी और जो डॉक्टरों, नर्स, फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर, सैनिटेशन वर्कर इस परिस्थिति में हमारे साथ खड़े रहे।'

यहां पर बता दें कि गुरुग्राम में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के पिछले सारे रिकॉर्ड टूट गए। बुधवार को 2,988 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। 12 मार्च 2020 से लेकर अब तक सबसे अधिक मरीज मिलने वाला दिन रहा। बुधवार को चार मरीजों की मौत हुई। 1,227 मरीज स्वस्थ भी हुए। जिले में तेरह माह में कोरोना मरीजों की संख्या 88,866 हो चुकी है और इसमें 72,448 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। गुरुग्राम में कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या 391 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग टीम ने कोरोना जांच के लिए बुधवार को 10,108 लोगों के सैंपल लिए हैं। गुरुग्राम में 11,15,725 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है।

पांच दिन में हुई अधिक मौत

पांच दिन में 17 मरीजों की मौत हो चुकी है। अप्रैल माह के 21 दिनों में 25,853 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं और 27 मरीजों की मौत हुई है। इसमें 20,742 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

कोरोना संक्रमित सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ी

जिले में इस समय आक्सीजन बेड व आइसीयू और वेंटिलेटर बेड सुविधा उपलब्ध नहीं है और कोरोना संक्रमित सक्रिय मरीजों संख्या लगातार बढ़ रही है।