जागरण संवाददाता, फतेहाबाद: उपायुक्त डा. हरदीप ¨सह ने अधिकारियों की आयोजित एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए बताया कि सरस्वती नदी व इसके आसपास विकसित हुई विश्व की प्राचीन सभ्यताओं के बारे में लोगों को जागरूक करने को लेकर हरियाणा में आगामी 18 22 तक अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। हरियाणा सरस्वती हैरिटेज महोत्सव डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा सिरसा से सरस्वती हैरिटेज यात्रा का प्रारंभ होगा, जो 19 जनवरी को जिला फतेहाबाद पहुंचेगी। यात्रा में प्रदर्शनी के माध्यम से सरस्वती नदी व इसके किनारों पर विकसित हुई सभ्यताओं की जानकारी को प्रदर्शित किया जाएगा। राज्य सरकार अंतर्राष्ट्रीय सरस्वती महोत्सव 2018 का आयोजन कर रही है, जिसके तहत जिला में सरस्वती यात्रा का कल 19 जनवरी को दोपहर 1 बजे गांव दरियापुर में भव्य स्वागत किया जाएगा। इसके उपरान्त स्थानीय एमएम बीएड कॉलेज में स्वागत एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश देते हुए उपायुक्त ने कहा कि इस यात्रा का मकसद प्रदेश के जल संसाधनों को निर्मल व स्वच्छ रखने के बारे में जागरूक भी करना है। उपायुक्त ने बताया कि विभिन्न सैटेलाइट रिपोर्ट के आधार पर यह सिद्ध हुआ है कि भूमि के नीचे आज भी सरस्वती नदी का प्रवाह है। सैटेलाइट के आधार पर ही इस पवित्र नदी का उदगम स्थल व प्रवाह रास्ते का मानचित्र तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि सरस्वती नदी हजारों वर्ष प्राचीन हैं और लोगों की आस्थाएं इस नदी से जुड़ी है। उपायुक्त ने कहा कि यात्रा का ठहराव 19 जनवरी को फतेहाबाद में ही होगा, इसके उपरान्त 20 जनवरी को प्रात: 10 बजे यह यात्रा बस अड्डा, लाल बत्ती चौक, फव्वारा चौक, जवाहर चौक के रास्ते होते हुए डीएसपी रोड से जिला हिसार के लिए रवाना होगी। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे फतेहाबाद में बनावाली, भिरड़ाना और कुनाल के जिन-जिन स्थानों पर सरस्वती नदी का प्रवाह था, उन रास्तों के समीप आने वाले स्कूलों में पौधरोपण भी किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सरस्वती नदी के प्राचीन इतिहास बारे नागरिकों को भी जानकारी उपलब्ध करवाए। बैठक में डीआरओ बिजेन्द्र भारद्वाज, डीईओ दयानंद सिहाग, एक्सईन जगबीर ¨सह, एसके जनेवा, नप ईओ अमन ढांडा, तहसीलदार नवजीत कौर बराड़, नायब तहसीलदार विजय कुमार, अधीक्षक वेद बाला सहित सभी विभागाध्यक्ष मौजूद थे।

Posted By: Jagran