फरीदाबाद [सुशील भाटिया]। CBSE 12th Result 2020:  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सोमवार को घोषित 12वीं कक्षा के परीक्षा के परिणाम में औद्योगिक नगरी की सबसे घनी आबाद वाली डबुआ कॉलोनी निवासी जुड़वां बहनों साक्षी और स्वाति शर्मा ने कमाल का प्रदर्शन किया है। दोनों ने विषय अलग लिए थे, पर अंक दोनों ने लगभग एक समान 96 फीसद लिए हैं। बहनों में स्वाति उम्र में दो मिनट बड़ी हैं, तो संयोग से अपनी बहन साक्षी से अंक 0.2 फीसद ज्यादा यानी 96.02 फीसद अंक लिए। रावल इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा स्वाति और साक्षी में पढ़ाई के साथ-साथ संगीत, ड्राइंग, वाद-विवाद, दैनिक जागरण की राखी बनाओ जैसी प्रतियोगिताओं में एक समान भाग लेने की रुचियां हैं।

शिक्षक मां डिंपल शर्मा व निजी कंपनी में कार्यरत अशोक शर्मा की होनहार बेटियां स्वाति-साक्षी का जन्म 18 जनवरी 2002 को हुआ था। स्वाति ने विज्ञान संकाय में परीक्षा दी थी। घोषित परिणाम के अनुसार स्वाति ने अंग्रेजी में 97, फिजिकल एजुकेशन में 99, पीसीएम में 95-95 अंक हासिल किए, जबकि छोटी साक्षी ने कॉमर्स संकाय में 96 फीसद अंकों के साथ सफलता हासिल करते हुए अंग्रेजी में 98, बिजनेस स्टडी में 98, फिजिकल एजुकेशन में 100, इकोनॉमिक्स में 95 और एकाउंटेंसी में 89 अंक हासिल किए। संगीत में दोनों की बराबर रुचि है। रावल इंटरनेशनल स्कूल में ही एकाउंटेंसी की लेक्चरार डिंपल शर्मा ने बताया कि जब दोनों एलकेजी में थी, तभी से स्कूल की बाल सभाओं में गीत व भजन गाने शुरू कर दिए थे। उम्र बढ़ने के साथ-साथ इनकी रुचि भी परवान चढ़ती गई। कक्षा चार में पहुंचने पर शास्त्रीय गायन भी सीखना शुरू कर दिया।

शास्त्रीय गायन में कर चुकी हैं कोर्स पूरा

स्वाति शास्त्रीय संगीत में चार साल का गायन कोर्स और चार साल का ही वादन काेर्स पूरा कर चुकी हैं, वहीं साक्षी शास्त्रीय संगीत में छह साल का गायन का कोर्स पूरा कर चुकी हैं। अब यहां संगीत के क्षेत्र में साक्षी अपनी बड़ी बहन से थोड़ा आगे रही और इंडियन आइडल की संगीत प्रतियोगिता के लिए ऑडिशन भी दे चुकी है और यू-ट्यूब चैनल बना कर अपनी आवाज में 11 गीत भी डाल चुकी हैं।

एक संगीत में तो दूसरी करना चाहती है साइंस क्षेत्र में काम

नुसरत फतेह अली खां व लता मंगेशकर, श्रेया घोषाल की मुरीद साक्षी आगे कॅरियर भी संगीत में ही बनाना चाहती हैं, जबकि स्वाति डीयू से केमेस्ट्री ऑनर्स में बीएससी करके फिर एस्ट्रो केमेस्ट्री में एमएससी की परीक्षा पास कर अनुसंधान के क्षेत्र में काम करना चाहती हैं।

सफलता का सूत्र

स्वाति-साक्षी ने सफलता के बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्कूल में अध्यापक के पढ़ाए हुए पर एकाग्रचित होकर ध्यान देना, घर आकर उसे दोहराना, कोई शंका होने पर अध्यापक से बात की उसे स्पष्ट करना और विषय को इस तरह गहराई से पढ़ो कि कुछ नया पढ़ रहे हैं। इससे पढ़ने में रुचि आएगी और पढ़ा कभी भूलेगा नहीं। दोनों बहनों ने अपनी सफलता का श्रेय स्कूल चेयरमैन सीबी रावल व प्रधानाचार्य डॉ.सीवी सिंह के मार्गदर्शन में अध्यापकों द्वारा बच्चों पर की गई कड़ी मेहनत को दिया, वहीं बातचीत में डिंपल शर्मा दोनों बेटियों को मां वैष्णो देवी की अनुपम भेंट मानते हुए उनका आभार व्यक्त करते नजर आई। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021