जागरण संवाददाता, भिवानी : बहल में एक अगस्त को किसानों की निर्णायक पंचायत होगी। इसमें अहम निर्णय लिए जाएंगे। भाजपा की तिरंगा यात्रा पर सवाल उठाते हुए कितलाना टोल धरने पर किसानों ने कहा कि सरकार चाहे कितनी भी चाल चल ले किसान उसकी चाल में नहीं फंसेंगे और भाईचारा नहीं बिगड़ने दिया जाएगा।

शनिवार को महंत सदानंद सरस्वती ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि शहीदों के लिए भाजपा और उनके सहयोगियों के दिल में कोई प्रेम और सम्मान नहीं है। ये महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के प्रशंसक हैं। अनेकों ऐसे अवसर आएं हैं जब इन्होंने महात्मा गांधी का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा और आरएसएस अब किसान आंदोलन के चलते लोगों को भ्रमित करने और अपने आप को आजादी के आंदोलन से जोड़कर दिखाने का प्रपंच रचकर भाई को भाई से लड़ाने पर आमादा हैं। देश का आम जन मानस इनकी असलियत समझ चुका है और इनकी किसी चाल में आने वाले नहीं हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर कितलाना टोल पर धरने के 219वें दिन सांगवान खाप के सूरजभान सांगवान, फौगाट खाप के प्रधान बलवन्त नम्बरदार, श्योराण खाप के प्रधान बिजेंद्र बेरला, किसान सभा के प्रताप सिंह सिंहमार, गंगाराम श्योराण, दिलबाग ढुल, मीरसिंह नीमड़ीवाली, मामकौर, फुला कितलाना, कृष्णा गौरीपुर, सुभाष यादव ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन को गति देने के लिए रविवार को बहल की अनाज मंडी में सुबह 9 बजे होने वाली किसान पंचायत में अहम निर्णय लिए जाएंगे। शनिवार को धरनास्थल पर जिलेभर से लोग पहुंचे और अपना समर्थन दिया।

Edited By: Jagran