Move to Jagran APP

सूरत में स्वच्छता मित्रों ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के दौरान मिले आभूषणों को थाने में कराया जमा

सूरत में ईमानदारी और निष्ठा का बड़ा उदाहरण सामने आया है। पुना इलाके में घर-घर कचरा उठा रहे स्वच्छता मित्रों को आभूषणों से भरा एक बक्सा मिला। हालांकि उन्होंने बक्सा लिए इसके मालिक की तलाश की लेकिन वह नहीं मिला। स्वच्छता मित्रों ने इसके बाद से आभूषणों से भरे बॉक्स को पुने की पुलिस स्टेशन में जमा करा दिया ।

By Jagran News Edited By: Sonu Gupta Fri, 09 Feb 2024 05:14 PM (IST)
सूरत में स्वच्छता मित्रों ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के दौरान मिले आभूषणों को थाने में कराया जमा
सूरत में स्वच्छता मित्रों ने पेश की ईमानदारी की मिसाल। फाइल फोटो।

जागरण न्यूज नेटवर्क, सूरत। सूरत में ईमानदारी और निष्ठा का बड़ा उदाहरण सामने आया है। पुना इलाके में घर-घर कचरा उठा रहे स्वच्छता मित्रों को आभूषणों से भरा एक बक्सा मिला। हालांकि, उन्होंने बक्सा लिए इसके मालिक की तलाश की, लेकिन वह नहीं मिला। स्वच्छता मित्रों ने इसके बाद से आभूषणों से भरे बॉक्स को पुने की पुलिस स्टेशन में जमा करा दिया। वहीं, इस ईमानदारी और निष्ठा के साथ काम करने के लिए स्वच्छता मित्रों को सम्मानित किया गया है।

पुलिस स्टेशन में जमा कराया आभूषण

स्वच्छता मित्र ईस्ट जोन-ए (वराछा) क्षेत्र में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन कर रहे थे, इसी दौरान पुना गांव के निशाल पालिया, मकनजी पार्क आदि क्षेत्र में  गणेश कुमार मुरलीधर और शीलाबेन संजयभाई वानखेड़े और चालक सलमान शेख की सफाई टीम को आभूषणों से भरे एक बक्सा मिला। स्वच्छता मित्रों ने इस बक्से को लेकर पुने में वार्ड कार्यालय के कर्मचारियों को क्षेत्र में मालिक की तलाश करने के लिए कहा, लेकिन मालिक का पता नहीं लग पाया। हालांकि, स्वच्छता मित्रों ने इसके बाद आभूषण को पुणे पुलिस स्टेशन में तथ्यात्मक विवरण के साथ जमा कराने का निर्णय लिया।  

स्वच्छता मित्रों को किया गया सम्मानित

महापौर दक्षेशभाई मवानी, उपमहापौर डॉक्टर नरेंद्र भाई पाटिल, स्थायी समिति अध्यक्ष राजनभाई पटेल, नेता सत्तारूढ़ दल शशिबेन त्रिपाठी, स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष नैंसीबेन शाह, नगरसेवक विपुलभाई मोवलिया, नगरसेवक धनश्यामभाई मकवाना ने इस मानवीय कार्य के लिए सभी स्वच्छता मित्रों को सम्मानित किया है।

यह भी पढ़ेंः Gujarat: मुफ्त बिजली देने से बेहतर है रूफटॉप सोलर सिस्टम का प्रोत्साहन, कनुभाई देसाई ने विपक्षी पार्टियों पर किया कटाक्ष

महापौर दक्षेशभाई मवाणी ने क्या कहा?

महापौर दक्षेशभाई मवाणी ने कहा कि सफाई कर्मियों द्वारा डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के दौरान कूड़े से 50 ग्राम सोना मिला, जिसके बाद उन्होंने उच्च अधिकारियों को सूचित किया और क्षेत्र में घर-घर कचरा संग्रहण किया। इलाके में हर किसी से पूछताछ की गई लेकिन असली मालिक का पता नहीं चला, इसलिए सोना पुलिस के पास जमा करा दिया गया है। आज सफाई कर्मियों ने न सिर्फ सूरत को स्वच्छता में पहला पायदान दिलाया है, बल्कि मानवता भी दिखाई है। आज सूरत के मेयर कार्यालय ने इन स्वच्छता मित्रों को सम्मानित और प्रोत्साहित किया है। मैं उनके काम की  सराहना करता हूं।  

यह भी पढ़ेंः 'चलिए आप लोगों को सजा देनी है', जब लंच टेबल पर PM Modi के साथ मिले विपक्षी सांसद