Move to Jagran APP

Gujarat: लोकसभा चुनाव में सांसद के रूप में चुनी गईं कांग्रेस नेता गेनीबेन, अब विधायक पद से दिया इस्तीफा

गुजरात कांग्रेस नेता गेनीबेन नागाजी ठाकोर ने हाल ही में विधायक पद से इस्तीफा दिया है। बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में बनासकांठा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस सांसद चुनी गई थीं। गेनिबेन को इस लोकसभा चुनाव में कुल 671883 वोट मिले और उन्होंने 30 हजार से अधिक वोटों के अंतर से भाजपा कैंडिडेट रेखाबेन हितेशभाई चौधरी को हराया था।

By Agency Edited By: Shubhrangi Goyal Thu, 13 Jun 2024 04:01 PM (IST)
गुजरात कांग्रेस नेता गेनीबेन नागाजी ठाकोर ने दिया इस्तीफा (file photo)

एएनआई, गुजरात। गुजरात कांग्रेस नेता गेनीबेन नागाजी ठाकोर ने हाल ही में विधायक पद से इस्तीफा दिया है। बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में बनासकांठा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस सांसद चुनी गई थीं। गेनिबेन को इस लोकसभा चुनाव में कुल 6,71,883 वोट मिले और उन्होंने 30 हजार से अधिक वोटों के अंतर से भाजपा कैंडिडेट रेखाबेन हितेशभाई चौधरी को हराया था।

रेखाबेन को कुल 6 41 477 वोट मिले और दूसरे नंबर पर रहीं। साथ ही बसपा के मशरूभाई परमार तीसरे नंबर पर रहे, उन्हें 9929 वोट मिले थे। बता दें कि गेनीबेन नागाजी ठाकोर का पूरा नाम गेनिबेन नागाजी ठाकोर है। गेनिबेन ने स्नातक किया है। महिला राजनीतिज्ञ और कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार गेनिबेन गुजरात विधानसभा में वाव सीट से विधायक भी हैं। उन्होंने 2012 में कांग्रेस के टिकट पर वाव विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाई थीं।

(Video: Information Department) pic.twitter.com/SP7pbCoAMI— ANI (@ANI) June 13, 2024

चुनाव प्रचार के लिए नहीं था ज्यादा फंड

जानकारी के लिए बता दें कि जब गेनीबेन को कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार घोषित किया तो उनके लिए चुनाव प्रचार करना आसान नहीं था। उनकी पार्टी के पास ज्यादा फंड नहीं था। इसके साथ ही इलेक्शन मशीनरी की भी कमी थी, लेकिन उन्होंने क्राउडफंडिंग के जरिए चुनाव लड़ा जीत हासिल की। उन्होंने 2012 में पहली बार वाव सीट से विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन हार गईं। वहीं 2014 में बनासकांठा सीट हरिभाई परथीभाई चौधरी के खाते में चली गई थी, जबकि 2019 के चुनावों में यह सीट बीजेपी नेता परबतभाई पटेल के खाते में चली गई थी।

इसके बाद 2017 में गेनीबेन ने फिर से चुनाव लड़ा और बीजेपी के शंकर चौधरी को हराया। 2022 में चौधरी पड़ोसी थराड सीट में चले गए, जबकि गेनीबेन ने उस समय फिर से जीत हासिल की।

यह भी पढ़ें: Car Accident: रिसॉर्ट जा रहे दिल्‍ली के सैलानियों की कार खड्ड में गिरी, चालक सहित पांंच घायल