Move to Jagran APP

'पढ़ने में बहुत तेज था मेरा इकलौता बेटा...', राजकोट आग हादसे में जान गंवाने वाले छात्र के पिता ने की अब यह मांग

राजकोट में टीआरपी गेम जोन में 25 मई को लगी आग में मारे गये 20 वर्षीय इंजीनियरिंग छात्र के पिता ने अब 20 लाख रुपये के मुआवजे की मांग की है।मालूम हो कि गेम जोम में लगी आग में 27 लोगों की मौत हुई थी। वेकारिया ने अपनी दलील में कहा कि उनका इकलौता बेटा नीरव इंजीनियरिंग के दूसरे वर्ष का छात्र था और वह पढ़ाई में बहुत अच्छा था।

By Agency Edited By: Sonu Gupta Tue, 09 Jul 2024 10:30 PM (IST)
'पढ़ने में बहुत तेज था मेरा इकलौता बेटा...', राजकोट आग हादसे में जान गंवाने वाले छात्र के पिता ने की अब यह मांग
राजकोट आग हादसे में मारे गए छात्र के पिता ने मांगा 20 लाख रुपये का मुआवजा। फाइल फोटो।

पीटीआई, राजकोट। राजकोट में टीआरपी गेम जोन में 25 मई को लगी आग में मारे गये 20 वर्षीय इंजीनियरिंग छात्र के पिता ने जिला उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग में वाद दायर कर 20 लाख रुपये के मुआवजे की मांग की है। गेम जोम में लगी आग में 27 लोगों की मौत हुई थी।

पीड़ित के वकील ने क्या कहा?

पीड़ित के वकील गजेन्द्र जानी ने मंगलवार को बताया कि पेशे से व्यापारी रसिक वेकारिया ने बताया कि सेवा में खामियों और लापरवाही बरतने के लिए गेम जोन का संचालन करने वाली कंपनी से मुआवजा और दंडात्मक क्षति की मांग की गई है।

इकलौता बेटा था नीरव

वेकारिया ने अपनी दलील में मुआवजे के लिए आधार बताते हुए कहा कि उनका इकलौता बेटा नीरव इंजीनियरिंग के दूसरे वर्ष का छात्र था और वह पढ़ाई में बहुत अच्छा था लेकिन कंपनी और उसके साझेदारों की लापरवाही के कारण हुए हादसे में उसने अपनी जान गंवा दी।

दो अगस्त को होगी अगली सुनवाई

जानी ने बताया कि जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्त, राजकोट नगर निगम को मुकदमे में पक्ष बनाया गया है ताकि वे इस शिकायत के संबंध में सभी दस्तावेजी सबूत ला सकें। न्यायाधीश के एम दवे ने सभी पक्षों को नोटिस जारी किया है। मामले की अगली सुनवाई दो अगस्त को होगी।

यह भी पढ़ेंः

हाथरस जाते हैं, पर तमिलनाडु का रास्ता क्यों भूले राहुल गांधी...; भाजपा ने कहा- DMK शासनकाल में बढ़ा दलित उत्पीड़न

Sikhs For Justice Ban: खालिस्तानी संगठन 'सिख्स फॉर जस्टिस' पर सरकार का बड़ा एक्शन, MHA ने 5 साल के लिए बढ़ाया प्रतिबंध