अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। गुजरात में अहमदाबाद के धंधुका कस्बे में इंटरनेट मीडिया पर एक विवादास्पद पोस्ट के चलते एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या के विरोध में कस्बा गुरुवार को बंद रहा। इसी दौरान मृत युवक की अंतिम यात्रा निकाली गई, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस बीच, विहिप व बजरंग दल ने धुंधका बंद का आह्वान किया है। शहर में तनाव है। अहमदाबाद से करीब सौ किमी दूर धंधुका कस्बे में इंटरनेट मीडिया पर एक विवादास्पद पोस्ट के चलते दो गुटों में टकराव था। बुधवार को अज्ञात बाइक सवार ने किशन बोडिया नामक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप एक युवक पर लगाया जा रहा है। पूछताछ के लिए दो युवकों को पकड़ा गया है। आरोपित पुलिस की पकड़ से बाहर है।

हत्या के विरोध में धुंधका बंद का आह्वान

उधर, हत्या के विरोध में विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल ने धंधुका बंद का आह्वान किया। मृतक के परिजनों ने गांव में एक मार्ग किशन के नाम पर करने तथा चौराहे पर उसकी प्रतिमा लगाने की मांग की है। बंद के दौरान पुलिस की निगरानी में ही गुरुवार को मृतक का अंतिम संस्कार किया गया। रेंज आईजी चंद्रशेखर के अनुसार, बंद के दौरान कस्बे में शांति रही। विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस अधीक्षक वहां मौजूद हैं। इसकी जांच पुलिस उपाधीक्षक रीना राठवा की निगरानी में होगी। धंधुका पुलिस निरीक्षक सीबी चौहाण को हटाकर साणंद के निरीक्षक आरजी खांट को धंधुका में तैनात किया गया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए स्पेशल आपरेशन ग्रुप, लोकल क्राइम ब्रांच सहित सात टीमें बनाई हैं।

गौरतलब है कि तुर्की के इस्तांबुल में गुजरात के गांधीनगर जिला निवासी दो परिवारों के छह सदस्यों के लापता होने की खबरों के बीच पुलिस ने बुधवार को उनका पता चलने का दावा किया है। पुलिस ने उनके माता-पिता के हवाले से कहा कि सभी लोग तुर्की के एक होटल में हैं। वे अगले दो-तीन दिन में वापसी करेंगे। पहले ऐसी खबरें आई थीं कि सभी को मानव तस्करों ने अपहृत कर लिया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि महीने की शुरुआत में विजिटर वीजा पर तुर्की गए छह लोग लापता हो गए थे। इनमें दो जोड़े और दो बच्चे शामिल थे। सभी को विजिटर वीजा पर तुर्की भेजने वाले एजेंट से पूछताछ के बाद अधिकारी ने बताया कि उन्हें मानव तस्करों द्वारा अपहृत कर लिए जाने की खबरें आई थीं, लेकिन स्वजन इससे इन्कार कर रहे हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या दोनों परिवार अवैध तरीके से किसी अन्य देश में प्रवेश का प्रयास कर रहे थे तो अधिकारी ने कहा, 'उनके यहां आने और पूछताछ के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।' यह मामला तब प्रकाश में आया था, जब कनाडा से अवैध तरीके से अमेरिका जाते समय गांधीनगर के एक ही परिवार के चार सदस्यों की ठंड से मौत होने की सूचना के बाद पुलिस ने जांच शुरू की थी। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra