अहमदाबाद, संवाद सूत्र। Police constable arrested. गुजरात के कड़ी पुलिस थाने में शराब बेचने के मामले में नौ पुलिसकर्मियों पर एफआईआर दर्ज होने के एक दिन बाद मंगलवार को अहमदाबाद में एक कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया गया है। शहर के व्यापारी को ब्लेकमेल कर 15 लाख रुपये मांगने के आरोप में क्राइम ब्रांच ने पुलिस कॉन्स्टेबल और उसकी एक महिला मित्र को गिरफ्तार किया है।

अहमदाबाद के निकोल क्षेत्र में एम्ब्रोडेयरी का कारखाना चलाने वाले व्यापारी अपनी पत्नी और दो पुत्री तथा एक पुत्र के साथ रहता है। गत 22 मई से उनके मोबाइल पर अज्ञात शख्स द्वारा फोन आ रहे थे। फोन पर शख्स 15 लाख रुपये की मांग करता था, नहीं देने पर उनकी बड़ी बेटी की आपत्तिजनक वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देता था। मोबाइल पर वह मैसेज कर ब्लेकमेल करता था। व्यापारी ने इस संबंध में साइबर क्राइम में शिकायत दर्ज करवाई थी।

साइबर क्राइम पुलिस की जांच में पता चला कि जिस नंबर से व्यापारी को फोन आते थे, वह ओढव पुलिस थाने में कार्यरत कॉन्स्टेबल दशरथ सिंह नवल सिंह परमार का है और उसने ही यह मैसेज और फोन किए थे। कॉन्स्टेबल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होने पर व्यापारी ने अहमदाबाद क्राइम ब्रांच में इसकी शिकायत की। इसके बाद क्राइम ब्रांच ने कॉन्स्टेबल दशरथ सिंह परमार और उसकी एक मित्र को गिरफ्तार किया है।

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने बताया कि दोनों आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। प्राथमिक पूछताछ में सामने आया है कि कॉन्स्टेबल दशरथ सिंह परमार ने व्यापारी से रुपये ऐंठने के लिए अपनी मित्र के साथ मिलकर यह प्लान बनाया था। कॉन्स्टेबल ने व्यापारी की बड़ी बेटी की आपत्तिजनक वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 15 लाख रुपये मांगता था। जबकि उसके पास इस प्रकार का कोई वीडियो नहीं था। आरोपी का मानना था कि व्यापारी को उसकी बेटी का आपत्तिजनक वीडियो वायरल करने की धमकी देने पर वह डर जाएगा और रुपये देने के लिए तैयार हो जाएगा। हालांकि पुलिस कॉन्स्टेबल का यह पैंतरा काम नहीं आया। फिलहाल, दोनों के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस