अभिषेक त्रिपाठी, पेरिस। यूएफा चैंपियंस लीग फाइनल 2022 में इंग्लिश फुटबाल क्लब लिवरपूल और स्पेनिश क्लब रीयल मैड्रिड के बीच महामुकाबला खेला गया। इस मैच में रीयल मैड्रिड ने 1-0 से जीत हासिल की और रिकार्ड 14वीं बार चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। रीयल मैड्रिड के लिए इस मुकाबले में एकमात्र गोल ब्राजील के विंगर विनीसियस जूनियर ने 59वें मिनट में किया। 

इंग्लिश फुटबाल क्लब लिवरपूल और स्पेनिश क्लब रीयल मैड्रिड के बीच जिस महामुकाबले का सभी को इंतजार था, वह 36 मिनट देरी से शुरू हुआ। पेरिस के स्टाड डि फ्रांस स्टेडियम में यूएफा चैंपियंस लीग फाइनल देखने आए प्रशंसकों को स्टेडियम में घुसने में काफी दिक्कत हुई जिस कारण तय समय पर सारे दर्शक अंदर नहीं आ सके, इसलिए पहले 15 मिनट मैच देर से शुरू करने की घोषणा हुई, बाद में मैच 36 मिनट देरी से शुरू हो सका। कुछ प्रशंसक जबरदस्ती स्टेडियम में घुसने की कोशिश करने लगे जिसके बाद बेकाबू भीड़ को रोकने के लिए स्थानीय पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ दिए थे। इन दृश्यों को देखकर सभी लोग चौंक गए।

लाल और सफेद रंग में बंटा पेरिस : कोई भी खेल प्रशंसकों के बल पर ही चलता है और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है फुटबाल। प्रसंशकों की स्टेडियमों में कितनी अहमियत होती है इसका अहसास खिलाड़ियों, कोचों और टीवी प्रसारकों को कोविड के समय में और ज्यादा पता चला। पेरिस में रीयल मैड्रिड और लिवरपूल के बीच यूएफा चैंपियंस लीग के फाइनल के दौरान पूरा शहर लाल और सफेद रंग में बंटा हुआ था।

लाल जर्सी इंग्लिश क्लब लिवरपूल और सफेद जर्सी स्पेनिश क्लब रीयल मैड्रिड की निशानी है। पेरिस में चारों तरफ इसी का शोर रहा। यह नजारा तब देखने को मिला जब फाइनल में खेलने वाली दोनों टीमें फ्रांस की नहीं थी। फ्रांस का शीर्ष फुटबाल क्लब पेरिस सेंट जर्मेन है जो फाइनल में नहीं पहुंचा, लेकिन 80,000 दर्शक क्षमता वाला स्टाड डि फ्रांस स्टेडियम अंदर से तो हाउसफुल रहा, साथ ही उसके बाहर भी हजारों प्रशंसक टिकट की आस में बैठे रहे। पेरिस में करीब 60,000 प्रशंसक लिवरपूल के पहुंचे तो शेष प्रशंसक रीयल मैड्रिड के थे।

जीत प्रसंशक की : इस मैच की दीवानगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता था कि लाल जर्सी पहने लिवरपूल के कई युवा प्रशंसक एक बोट के माध्यम से पेरिस आए थे। वहीं, लंदन में एक स्कूल में विलियम हरस्टेड नामक एक विद्यार्थी दो दिन से स्कूल नहीं आया तो उसके स्कूल की अध्यापिका ने उसके पापा से कारण पूछा कि तो उन्होंने बताया कि वह तो अपनी टीम लिवरपूल का हौसला बढ़ाने के लिए पेरिस में है तब स्कूल की अध्यापिका ने उनके पिता को उत्तर दिया, बहुत बढ़िया।

उधर, रीयल मैड्रिड के प्रशसंको ने भी अपने-अपने अंदाज में खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। कई प्रशंसकों के बीच में कायलियन एमबापे की जर्सी थी। एमबापे पेरिस सेंट जर्मेन के लिए स्ट्राइकर के रूप में खेलते हैं और लीग के फाइनल से पहले उनके रीयल मैड्रिड में आने की चर्चा थी, लेकिन उन्होंने अपनी मौजूदा टीम के साथ ही अपने करार को आगे बढ़ा लिया।

Edited By: Sanjay Savern