- पराग छापेकर

- स्टार कास्ट: गोविंदा, वरुण शर्मा, संजय मिश्रा और दिगंगना सूर्यवंशी

- निर्देशक: अभिषेक डोगरा

- निर्माता: साजिद कुरैशी, महिपाल करण राठौर और सलाउद्दीन युसूफ

बहुआयामी अभिनेता गोविंदा के परिदृश्य से गायब होने के बाद अलग-अलग कलाकारों ने स्पेस को भरने की भरपूर कोशिश की, मगर वो कोशिश कोशिश ही रही कामयाब ना हो सकी और गोविंदा की जगह हमेशा खाली रही। गोविंदा ने भी अपनी उस जगह तक पहुंचने की बीच-बीच में कोशिश की मगर कमजोर कंटेंट के कारण गोविंदा खुद भी उस जगह तक नहीं पहुंच पाए थे। मगर फिल्म 'फ्राइडे' के आने से गोविंदा के चाहने वालों के दिलों में निश्चित तौर पर एक उम्मीद का दिया टिम टिमाने लगा है। गोविंदा को चाहने वाले उनके अलग अंदाज के सिनेमा के दीवाने हमेशा उसी तरह की फिल्म का इंतजार करते रहे हैं, उसी तरह की फिल्मों में गोविंदा को देखना चाहते थे और फ्राइडे उसके काफी करीब पहुंच गई है।

निर्देशक अभिषेक डोगरा भी शायद गोविंदा के फैन रहे होंगे, इसीलिए उनकी लेखनी में गोविंदा की लेखनी एकदम सटीक अंदाज में नजर आती है। फिल्म के कितने ही वर्गीकरण कर ले, एक वर्गीकरण अपने आप में अलग है। वह गोविंदा टाइप फिल्म इसका अपना अलग ही स्पेस है और उसके अलग चाहने वाले। उसी स्पेस मैं जब फिल्म 'फ्राइडे' जैसी एक मनोरंजक फिल्म आती है तो कभी ठहाके लगाने पर मजबूर कर देती है, तो कभी गोविंदा को नाचते देख वाह कहने पर मजबूर कर देती है। 

अभिनय की बात करें गोविंदा के लिए यह स्पेशल तौर पर लिखा गया है और वह उसके महारथी है। वरुण शर्मा ने भी उनका साथ भरपूर दिया है दिगंगना सूर्यवंशी के रूप में आने वाले समय में एक बहुत ही समर्थ अभिनेत्री बॉलीवुड को मिली है। बृजेंद्र कला राजेश शर्मा थोड़ी देर के लिए आते हैं मगर छा जाते हैं..

कुल मिलाकर 'फ्राइडे' एक टिपिकल गोविंदा फिल्म है जिसका आनंद आप तब ले सकते है जब आप दिमाग का इस्तेमाल ना करें। फिल्म में कुछ टेक्निकल प्रॉब्लम है मगर गोविंदा उन सबको ओवरशैडो कर जाते हैं। अगर आप गोविंदा के हार्डकोर फैन हैं उनकी तरह की कॉमेडी आप पसंद करते हैं तो निश्चित ही 'फ्राइडे' आपको पसंद आएगी। 

जागरण डॉट कॉम रेटिंग : पांच (5) में से तीन (3) स्टार

गोविंदा की अब तक की लाइफ़ और फिल्मी सफ़र काफ़ी इंट्रेस्टिंग रहा है l इस वीडियो में आप देख सकते हैं - 

Posted By: Rahul soni