अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। अभिनेता इरफ़ान की फिल्में जिंदगी से जुड़ी होती हैं। अब भी वह जिंदगी को लेकर अलग नजरिये वाली फिल्में प्रस्तुत करते रहे हैं। कुछ ऐसी ही फिल्म है करीब करीब सिंगल। इरफान ने यह बात स्वीकारी है कि वह ज़िंदगी से बेहद करीब है। वह लाइफ में प्रैक्टिकल भी हैं और कुछ चीजें अपने मन की भी करते रहते हैं। आइये जानते हैं इरफ़ान से बातचीत के कुछ किस्से।

सुना है इस फिल्म में आपने अपने शौक भी पूरे किये हैं ? 

इरफ़ान स्वीकारते हैं कि उन्हें इस फिल्म में काम करते हुए मज़ा इसलिए भी आया, क्योंकि इस फिल्म के दौरान उन्हें रीवर राफ्टिंग का अपना शौक पूरा करने का मौका मिला। इरफ़ान कहते हैं "मैं रीवर राफटिंग का शौकीन रहा हूं। ऐसे में आपको सीन करते हुए इसका मज़ा लेने का मौका मिले तो क्या बात है। मुझे जब पता चला तो मैं खुशी से उछल पड़ा। हालांकि पानी बहुत ठंडा था लेकिन मुझे इतना मजा आया कि क्या कहूं। इसके अलावा मुझे पतंग उड़ाने में बहुत मज़ा आता है। इस फिल्म के दौरान जब मेरा पतंग वाला सीन आया था एक्टिंग भूल कर मैं तो पतंग ही उड़ाने लगा था।"

यह भी पढ़ें:Box Office पर इत्तेफ़ाक की ऐसी शुरुआत, सिद्धार्थ- सोनाक्षी की जोड़ी ने इतने कमाये

 


साऊथ की हीरोइन का फिल्म में होना कैसा था? 

इरफ़ान ने यहभी बताया कि फिल्म के माध्यम से कई जगहों को एक्सप्लोर किया है, जिनमें हिमाचल प्रदेश, ऋषिकेश, मुंबई की कई सारी जगहें थीं। वेदर अच्छा था तो काम करने में और सफर का आनंद लेने में खूब मज़ा आया। इरफ़ान कहते हैं कि फिल्म में पार्वती का साउथ इंडियन होना फिल्म को कलरफुल करने जैसा है। हमने ऐसा कुछ प्लान नहीं किया था. लेकिन कई बार ऐसा होता है कि आप कुछ प्लान मत करो और फिर कलर आ जाता है तो उसकी बात ही कुछ और होती है। इरफान कहते हैं कि आप जब कोई किरदार निभाते हैं तो आप अपनी लाइफ़ का हिस्सा, तर्जुबा सब कुछ किरदार को देते हैं। डायरेक्टर एक्टर का कोलेब्रेशन होता है तो कमाल होता है। इरफान कहते हैं "मैं जिस तरह के किरदार करता हूं उसमें सिर्फ ग्लैमरस अभिनेत्रियों से काम नहीं चलता है तो मेरे लिए यह चैलेंज होता है कि हीरोइन कहां से लायें। फिर हम तलाशते हैं।"

यह भी पढ़ें:अगले साल इस दिन दिखेगी नयी सड़क, पूजा भट्ट ने खोले कुछ राज़

इरफ़ान की फिल्म करीब करीब सिंगल का निर्देशन तनुजा चंद्रा ने किया है। फिल्म 10नवंबर को रिलीज़ होने वाली है।

Posted By: Manoj Khadilkar