मुंबई। हॉलीवुड की फिल्म एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर भारत में सबसे अधिक कमाई करने वाली विदेशी फिल्म बनने से अब बस कुछ ही लाख रूपये दूर है। उधर घरेलू बॉक्स ऑफ़िस के मैदान में अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर की 102 नॉट आउट ने जबरदस्त उछाल ली है।

करीब डेढ़ दर्जन सुपरहीरोज़ से लैस एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर ने घरेलू बॉक्स ऑफ़िस पर रविवार को 13 करोड़ चार लाख रूपये का शानदार कलेक्शन किया। दूसरे वीकेंड के बाद ये फिल्म अब 187 करोड़ 38 लाख रूपये (240 करोड़ 23 लाख रूपये ग्रॉस) का कलेक्शन कर चुकी है। आठ अप्रैल 2016 को भारत में रिलीज़ हुई जॉन फेवरेऊ के निर्देशन में बनी द जंगल बुक ने 187 करोड़ 40 लाख रूपये का कलेक्शन किया था। ये भारत की सबसे अधिक कमाई करने वाली विदेशी फिल्म है।

द जंगल बुक - 187.40 करोड़ रूपये

एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर - 187.38 करोड़

फास्ट एंड द फ्यूरियस 7 – 108 करोड़

जुरासिक वर्ल्ड – 101 करोड़

फेट ऑफ द फ्यूरियस – 86.23 करोड़

एवेंजर्स द एज़ ऑफ अल्ट्रोन – 80 करोड़

एवेंजर्स इनफिनिटी वॉर ने 31 करोड़ 30 लाख से ओपनिंग ली। रॉबर्ट डाउनी जूनियर, क्रिस हेम्सवर्थ, मार्क रुफालो, बेनेडिक्ट कम्बरबैच, सबस्टियन स्टान, क्रिस इवांस,स्कारलेट जोहेनसन और चैडविक बोसमैन जैसे बड़े सितारों से सजी ये फिल्म करीब 300 मिलियन डॉलर में बनाई गई और इसे भारत में 2000 से अधिक स्क्रीन्स में रिलीज़ किया गया, जिसमें से एक हजार के करीब थियेटर्स में ये फिल्म हिंदी, तमिल और तेलुगु के डब वर्जन में देखने मिल रही है।

 

उधर अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर स्टारर फिल्म 102 नॉट आउट ने भी पहले वीकेंड में घरेलू बॉक्स ऑफ़िस पर अच्छा प्रदर्शन किया है। फिल्म ने तीन दिन में 16 करोड़ 65 लाख रूपये का कलेक्शन किया है। रविवार को फिल्म को सात करोड़ 60 लाख रूपये का का जबरदस्त कलेक्शन मिला जो शनिवार के पांच करोड़ 53 लाख रूपये से दो करोड़ सात लाख रूपये अधिक है ।

उमेश शुक्ला के निर्देशन में बनी फिल्म 102 नॉट आउट ने पहले दिन तीन करोड़ 52 लाख रूपये का कलेक्शन किया था । ट्रेड पंडितों ने माना था कि इस तरह की फिल्में नामी स्टारकास्ट होने के बावजूद बड़ी ओपनिंग नहीं ले पाती लेकिन माउथ पब्लिसिटी से फिल्म पिकअप होती हैं। फिल्म 102 नॉट आउट सौम्य जोशी के गुजराती नाटक पर आधारित है। फिल्म में अमिताभ बच्चन 102 साल के बुजुर्ग दत्तात्रेय वखारिया का रोल निभा रहे हैं। उनका एक 75 साल का बेटा है बाबूलाल। ऋषि कपूर का ये किरदार उम्र के हिसाब से बुजुर्गियत ओढ़ चुका है और इस कारण पिता अपने ही बेटे को वृद्धाश्रम भेजना चाहता है। बकौल पिता एक नालायक बेटे के बचपन को कभी नहीं भूलना चाहिए। करीब एक घंटा 41 मिनट की इस फिल्म को प्रचार के साथ 30 करोड़ रूपये में बनाया गया है।

Box Office: चीन वालों को समझ क्यों नहीं आ रही बाहुबली की भव्यता, बस इतने करोड़

Posted By: Manoj Khadilkar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप