मुंबई। पाकिस्तान के बालाकोट इलाक़े में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक्स के बाद पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। दोनों मुल्क़ों के बीच तनाव लगातार बढ़ रहा है। भारत के तेवरों ने पाकिस्तानी हुक्मरानों की हालत खस्ता कर दी है। वहीं, युद्ध की आशंकाओं ने पाकिस्तानी कलाकारों को फ़िक्र में डाल दिया है। 

14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों के काफ़िले पर हुए आतंकी हमले में 40 जवानों की शहादत ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। देश भर में ज़बर्दस्त गुस्सा और ग़म का आलम था। सीआरपीएफ के काफ़िले पर कायराना हमले की ज़िम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी, जिसे पाकिस्तान की सरपरस्ती हासिल है। इस हमले के 13 दिन बाद भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर एयर स्ट्राइक की, जिसमें जैश ए मोहम्मद का कैंप तबाह हो गया है। 

इस एयर स्ट्राइक का बॉलीवुड ने स्वागत किया है, वहीं पाकिस्तान में बौखला गया है। पुलवामा टेरर अटैक पर चुप रहने वाले वहां के कलाकार अब युद्ध को लेकर उपदेश देने वाले मोड में आ गये हैं। बॉलीवुड में काम कर चुकी एक्ट्रेस मावरा होकेन ने क्रिस्टोफर हॉलीडे के कथन को ट्वीट करके लिखा है- अगर हम मानवीय जीवन की बात करें तो युद्ध में कोई विजेता नहीं होता। यही वक़्त है कि हम इंसान होने के नाते समझना चाहिए। मीडिया को चार्ज लेने की ज़रूरत है और एक-दूसरे को भड़काना नहीं चाहिए। शांति बनाने रखना हमारी ज़िम्मेदारी है और अपने शब्दों का बेहतर करना चाहिए ना कि ख़राब। हमेशा शांति के लिए दुआ करूंगी। 

बताते चलें कि मावरा ने पुलवामा हमले पर भी अपनी राय ज़ाहिर की थी। ऐसा उन्होंने एक यूज़र के सवाल के जवाब में किया था। 17 फरवरी को मावरा ने ट्विटर पर आस्क मावरा सेशन रखा था, जिसमें फ़ैंस उनसे सवाल कर रहे थे। इसी दौरान एक भारतीय यूज़र ने पूछा- पुलवामा हमले पर आपके विचार जानना चाहूंगा। मैं जानता हूं, आप जवाब नहीं देंगी, फिर भी।

इसके जवाब में मावरा ने लिखा- ''आपने मेरे जवाब देने से पहले ही सोच लिया कि मैं नहीं बोलूंगी, इसलिए सबसे पहले जजिंग बंद कीजिए। इंसानियत सबसे पहले आती है। जो भी जान गयी है, वो एक इंसानी जान है। यह हृदय विदारक है। मैं सब्र और दुनिया के इस हिस्से में प्यार के लिए प्रार्थना करती हूं।'' मावरा ने यह भी कहा कि अगर कोई अपने जज़्बात ज़ाहिर नहीं कर रहा तो इसका मतलब यह नहीं कि उससे नफ़रत की कीजिए।'' 

एक और यूज़र ने जब माहिरा से यह पूछा कि आपको नहीं लगता कि भारत और पाकिस्तान के बीच शांति होनी चाहिए, तो माहिरा ने जवाब दिया- ''हां, लेकिन इतने सारे लोग नफ़रत फैला रहे हैं और दुर्भाग्य से हम हमेशा उनका शिकार बन जाते हैं।''

मावरा ने 'सनम तेरी क़सम से बॉलीवुड' में डेब्यू किया था, जिसमें हर्षवर्धन राणे मेल लीड रोल में थे। इसके बाद मावरा की कुछ और बॉलीवुड फ़िल्मों के लिए बातचीत चल रही थी, मगर उरी अटैक के बाद भारत-पाक के बीच रिश्तों में तल्ख़ी आने की वजह से मावरा को पाकिस्तान लौटना पड़ा था।

वैसे मावरा ने 2016 में उरी अटैक के बाद भी ट्विटर पर आतंक हमलों को ग़लत बताया था, हालांकि उन्होंने अपनी मज़बूरियों के चलते उरी या भारत का नाम ट्वीट में नहीं लिया था।

बताते चलें कि पुलवामा हमलों की जहां पूरी दुनिया में भर्त्सना की गयी थी, वहीं पाकिस्तान कलाकारों ने इस पर चुप्पी साध ली थी। भारतीय फ़िल्म इंडस्ट्री से उनका गहरा रिश्ता रहा है और यहां से उन्हें काफ़ी काम मिलता है। इसी वजह से पाकिस्तानी कलाकारों के प्रति यहां की इंडस्ट्री में भी गुस्सा पनपने लगा था, जिसके चलते पाक कलाकारों को बॉलीवुड में बैन कर दिया गया।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप