मुंबई। New Zealand Mosque Attack की हर कोई कड़ी निंदा कर रहा है। इंसानियत के ख़िलाफ़ इस हैवानियत से लोगों में एक तरह का गुस्सा भी है। बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ ने भी इस जघन्य घटना की निंदा की है और पाकिस्तानी कलाकार भी इसकी मज़म्मत कर रहे हैं, मगर इसके साथ पुलवामा आतंकी हमलों पर पाक कलाकारों की चुप्पी भी याद आने लगी है। 

14 फरवरी को शाम क़रीब 3.30 बजे हुए पुलवामा टेरर अटैक में 40 से अधिक जवान शहीद हुए थे। इस हमले ने पूरे देश को एक ज़ख़्म दे दिया था। हमले की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी, जिसका सरगना मसूद अज़हर है। मगर, तब एक भी पाकिस्तानी कलाकार ने इस आतंकी घटना पर मुंह नहीं खोला था, जिसको लेकर बॉलीवुड फ़िल्म इंडस्ट्री में भारी रोष व्याप्त था और पाक कलाकारों को पूरी तरह बैन करने का फ़ैसला किया गया था।

पुलवामा में हुए अटैक के ठीक एक महीने बाद शुक्रवार को न्यूज़ीलैंड की क्राइस्टचर्च मस्जिद में एक आतंकी हमला हुआ, जिसमें कई जानें गयीं। इस घटना के बाद पाकिस्तानी एक्टर अली ज़फ़र ने ट्वीट किया- नमाज़ के दौरान निर्दोष मुस्लिमों को मारते हुए शख़्स का वीडियो देखा। सबसे अधिक परेशान करे वाला दृश्य। सोच रहा हूं कि विश्व इसे हिंसक कार्रवाई कहेगा या आतंकी कार्रवाई। 

मावरा होकेन ने पुलवामा अटैक को लेकर कोई प्रतिक्रिया ज़ाहिर नहीं की थी, मगर एक यूज़र के पूछने पर उन्होंने किसी भी आतंकी कार्रवाई की निंदा की थी। न्यूज़ीलैंड अटैक के बाद मावरा लिखती हैं- जुम्मा मुबारक। मोहब्बत, शांति, सहनशीलता और सम्मान होना चाहिए। क्राइस्टचर्च मस्जिद अटैक की ख़बर से दुखी हूं। कोई भी शख़्स इबादत की जगह पर हमला करता है, वो किसी मज़हब का कैसे हो सकता है। 

पुलवामा अटैक पर आख़िर तक ख़मोश रहने वाली माहिरा ख़ान ने लिखा- क्राइस्टचर्च मस्जिद अटैक के बारे में जानकर बहुत परेशान हूं। न्यूज़ीलैंड के लोगों और ग़मगीन परिवारों के लिए दुआएं।

उधर, बॉलीवुड कलाकारों ने न्यूज़ीलैंड के आतंकी हमले पर अफ़सोस ज़ाहिर किया है। सुनील ग्रोवर ने लिखा है- हम कहां जा रहे हैं। क्राइस्टचर्च अटैक की हिंसा के बारे में सुनकर दुखी हूं। मेरी प्रार्थनाएं पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ हैं।

चित्रांगदा सिंह ने लिखा है- नफ़रत भरी इस कार्रवाई से दुखी हूं। यह मानवता के ख़िलाफ़ हत्याकांड है। पीड़ितों और उनके प्रियजनों के लिए प्रार्थनाएं।

श्रुति सेठ ने इन हमलों पर लिखा- अगर कोई क्राइस्टचर्च अटैक को सही ठहराता है तो वो दिन दूर नहीं, जब वो नफ़रत से भरी इन बंदूकों के निशाने पर होंगे। नफ़रत से सिर्फ़ नफ़रत फैलती है और इस तरह दुनिया जलने लगेगी। मानवता के लिए एक बेहद अफ़सोसज से भरा दिन। मोहब्बत और शांति के लिए दुआएं।

अनुपम खेर ने लिखा है- न्यूज़ीलैंड मस्जिद में शूटिंग की घटना में निर्दोषों पर किये गये  कायराना हमले से बहुत दुखी और रोष में हूं। मेरा दिल पीड़ितों के परिवारों के लिए रो रहा है। ईश्वर उन्हें इस क्षति से निपटने की शक्ति दे। घायलों के जल्द सेहतमंद होने के लिए प्रार्थना कर रहा हूं।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप