नई दिल्ली, जेएनएन। एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के व्यवसायी पति राज कुंद्रा की अश्लील फिल्म से जुड़े एक मामले में गिरफ्तारी पिछले एक हफ्ते से पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस सबपर कॉमेडियन और अभिनेता सुनील पाल ने भी रिएक्ट किया है। सुनील पाल ने 'द फैमिली मैन' और 'मिर्जापुर' जैसी वेब सीरीज पर सवाल खड़े किए हैं। और कहा है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ले लोग कमजोर सेंसरशिप का फायदा उठाते हैं

मनोज बाजपेयी पर भड़के कॉमेडियन

बॉलीवुड हंगामा की रिपोर्ट के अनुसार एक कार्यक्रम में मीडिया से बात करते हुए, सुनील पाल से राज कुंद्रा की गिरफ्तारी पर पूछा गया। तो कॉमेडियन ने अपने बेबाक अंदाज में कहा,"जो कुछ हुआ, वह होना ही था, और यह जरूरी था। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि बड़े लोग चाहे वेब सीरीज हो या दूसरी जगह सेंसरशिप न होने का फायदा उठा रहे हैं। इन दिनों बन रही वेब सीरीज को घर पर नहीं देखा जा सकता है। मैं विशेष रूप से यह बताना चाहूंगा कि मैं वास्तव में मनोज बाजपेयी जैसे 3-4 लोगों से नफरत करता हूं। मनोज बाजपेयी कितने भी बड़े अभिनेता हों, मैंने इससे अधिक 'बदतमीज' और 'गिरा हुआ इंसान' कभी नहीं देखा। देश ने आपको राष्ट्रपति पुरस्कार दिया और आप पारिवारिक दर्शकों के लिए क्या कर रहे हैं?

द फैमिली मैन और मिर्जापुर भी हैं अश्लील

सुनील पाल ने आगे कहा- आप एक वेब सीरीज बनाते हैं जहां पत्नी का किसी दूसरे पुरुष के साथ अफेयर चल रहा हो और आपका कहीं और अफेयर हो, नाबालिग बेटी अपने बॉयफ्रेंड की बात कर रही है और छोटा बेटा अपनी उम्र से बड़ा व्यवहार कर रहा है। क्या ऐसा दिखता है एक परिवार? अब उन्होंने लोगों को इस सवाल के साथ छोड़ दिया है कि लोनावाला में क्या हुआ। क्या हो रहा है? आपके पास दिखाने के लिए क्या बचा है?" सुनील पाल राज और डीके की लोकप्रिय अमेजन प्राइम वीडियो ओरिजिनल सीरीज द फैमिली मैन सीजन 1 का जिक्र कर रहे थे। शो का सीजन 2 इस साल जून में रिलीज हुआ था।

इसके बाद आता है शो मिर्जापुर, जो जिसमें यहीं सब दिखाया गया है। मुझे उनसे बहुत नफरत है। इन सब पर बैन लगना चाहिए क्योंकि ये भी अश्लील है। अश्लील केवल वह नहीं है जो हम देखते हैं बल्कि विचारों की आश्लीलता होती है।"

सुनील पाल ने इस तरह के एडल्ट फिल्म रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए पुलिस को बधाई दी। उन्होंने बड़े डिजिटल प्लेटफॉर्म के मालिकों पर गंदगी फैलाने का भी आरोप लगाया और कहा कि ऐसे लोगों को एक कमरे में बंद करके 100 दिन तक पीटना चाहिए। 

Edited By: Ruchi Vajpayee