नई दिल्ली, जेएनएन। साल 2020 के दूसरे हाफ़ की शुरुआत सरोज ख़ान के निधन की दुखद ख़बर से हुई है। सरोज ख़ान का जाना भारतीय सिनेमा की अपूर्णीय क्षति है। सरोज नृत्य निर्देशक या कोरियोग्राफर्स की उस लीग में शामिल थीं, जो किसी संस्थान से कम नहीं होते। सरोज ने अपने पीछे अपने बेमिसाल काम की विरासत तो छोड़ी ही है, साथ ही ऐसी कई कहानियां छोड़ी हैं, जो उनके शागिर्द रह चुके कोरियोग्राफर्स उनके जाने के बाद याद कर रहे हैं।

सरोज ने हिंदी सिनेमा में डांस की परम्परा को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के साथ अपने पीछे कोरियोग्राफर्स की एक पीढ़ी छोड़ी है, जो कभी उनका एहसान नहीं भूलेगी। किसी की वो प्रेरणा बनीं तो किसी ने उनके साथ काम करके डांस की तालीम हासिल की। आज सब दुखी हैं और सरोज ख़ान के जाने का ग़म मना रहे हैं। हिंदी फ़िल्मों की वेटरन कोरियोग्राफर फराह ख़ान ने सरोज ख़ान को याद करते हुए ट्वीट किया- श्रद्धांजलि सरोज जी। आप कई लोगों के लिए प्रेरणा थीं। उनमें मैं भी शामिल हूं। आपके गानों के लिए आपका शुक्रिया।

गणेश आचार्य ने सरोज ख़ान को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा- ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे सरोज जी। आप हमारे दिलों में हमेशा मौजूद रहेंगी। मुझे यह लिखते हुए बहुत अफ़सोस हो रहा है, क्योंकि हमने सबसे महान लीजेंड्स में से एक को खो दिया है। 

रेमो डिसूज़ा के करियर में सरोज ख़ान का ख़ास योगदान है। रेमो ने इंस्टाग्राम पर लिखा- भारी दर्द के साथ आज उठा। आपके निधन की ख़बर सुनकर। आप ख़ुद में एक संस्थान थीं। हमारे डांस समुदाय के लिए सबसे बड़ा झटका। मैं ख़ुशकिस्मत हूं कि आपके अधीन काम किया, आपके साथ नाचा। आपको कोरियोग्राफ किया। आपके साथ कोरियोग्राफ किया। आपको डायरेक्ट किया। आप जिस पैशन और प्यार से अपने गाने कोरियोग्राफ करती थीं, वो कभी नहीं भूलेगा। मुझे इतना कुछ सिखाने के लिए शुक्रिया। आप हमारे दिलों में हमेशा रहेंगी।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Got up with a huge pain in my heart ..... on hearing about your demise ,you were an institution in yourself ,the biggest loss to our dance fraternity.... was fortunate to dance under you , dance with you , choreograph you and choreograph with you and direct you .... willl never forget the love and the passion with which u would choreograph each song the passion in your eyes was like never seen before .... thank you for teaching me so much .... you will always be remembered and always in our hearts .....Saroji.... my condolences to the entire family ..... RIP mam

A post shared by Remo Dsouza (@remodsouza) on

गणेश हेगड़े ने सरोज ख़ान के निधन को एक युग की समाप्ति बताया। गणेश ने बताया कि जब सरोज ख़ान कोई गाना कोरियोग्राफ करती थीं तो एक्ट्रेसेज़ को उसमें अहमियत मिलती थी। सरोज ख़ान ने भारतीय क्लासिकल नृत्य की विधाओं को मॉडर्न डांस के साथ ख़ूबसूरती के साथ पिरोया था। उनके डांस में ह्यूमर रहता था। कथ्य से कोई समझौता किये बिना वो ज़बरदस्त भाव निकलवाती थीं। तकनीकी रूप से उनके गाने मास्टर क्लास होते थे, जिन्होंने मेरे जैसे कई लोगों को प्रेरित किया। वो वोकई कोरियोग्राफी की क्वीन थीं।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

End of an era. The word choreographer got new prominence and emphasis in the film industry thanks to Saroj ji. Actresses had a different dominance over songs when they were choreographed by saroji..The ease,experience and aura reflecting on the face of an actress was all due to the magic of Saroj khan. The use of various indian classical dance forms fused with modern styles with such effectiveness makes her truly a unique Dance director. The humour in her choreography was superlative and it was amazing to see how she pulled a comic expression while maintaining the narrative all just in a split second. Technically her songs were a master class in choreography and has inspired many incuding myself. The gravitas and impact of her choreography for an indian song will never be the same again. She truly was “THE QUEEN” of Choreography..God bless your soul..RIP

A post shared by Ganesh Hegde (@ganeshhhegde) on

अहमद ख़ान ने सरोज को याद करते हुए लिखा- श्रद्धांजलि सरोज जी। मेरी गुरु, जिन्होंने मेरा हाथ तब पकड़ा, जब मैं 16 साल का था। एक युग की समाप्ति। वाकई में एक लीजेंड।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Rest In Peace Saroji 🙏🏻 My Teacher who held my finger on the path of Choreography when i was 16... END of an ERA & A true LEGEND .. 💔

A post shared by Team Ahmed Khan (@khan_ahmedasas) on

बास्को मारटिस ने सरोज ख़ान के साथ एक शो का वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा- मेरे लिए मास्टरजी क्वीन ऑफ़ बॉलीवुड हैं और उन्हें कोई रिप्लेस नहीं कर सकता। आपने बॉलीवुड को अपने गानों और डांस से शीर्षक दिया। आपने हम सबको नक्शे पर पहुंचाया और फ़िल्मों में बेस्ट कोरियोग्राफी के लिए पहला फ़िल्मफेयर अवॉर्ड लेकर हमें सम्मान दिलाया। आपको यह एक दो तीन के लिए मिला था। आपको याद है ना, आप पांच के सेट पर देखने आयी थीं कि बास्को-सीज़र कौन हैं और हमें आपका आशीर्वाद मिला था। मास्टर जी आपकी यात्रा का जश्न मनाया जाएगा और मैं ख़ुशकिस्मत हूं कि मैंने आपके साथ वक़्त बिताया। 

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Masterji! For me your the Queen of Bollywood and no one in this life can replace that . You gave Bollywood the title with the song and dance numbers . You put us on the map and got respect and Honour by getting the first ever Filmfare award for best choreography in the movies . You got it for EK DO TEEN ! I remember you had come on the sets of Panch to see who Bosco- Caesar were and we got your blessings and that blessing really worked for us . Masterji your journey will be celebrated and I’m so lucky that I had this moment with you . God bless you Masterji and keep watching and guiding us from heaven ❤️ #ripmasterji #sarojkhan #bollywoodqueen #memories

A post shared by Bosco Leslie Martis (@boscomartis) on

कोरियोग्राफर वैभवी मर्चेंट ने लिखा- हमारी लीजेंड श्रीमति सरोज ख़ान जी के लिए प्रार्थनाएं और दैवीय सम्मान। आपको शांति मिले।  

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Prayers & divine respect for our legend, Smt Saroj Khan Ji...May you find peace & love,where you are🙏🏻Rest In Peace Om Shanti 🙏🏻🙏🏻🙏🏻

A post shared by Vaibhavi Merchant (@vaibhavi.merchant) on

शुक्रवार सुबह 2 बजे मुंबई के बांद्रा स्थित गुरु नानक अस्पताल में उनका निधन हो गया है। सरोज ख़ान की तबीयत कुछ समय पहले भी खराब हुई थी। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जिसके बाद उन्हें गुरु नानक अस्पताल में भर्त करवाया गया था।हालांकि वो जल्दी ठीक होकर वापस घर आ गई थीं। लेकिन शुक्रवार को उनकी तबीयत अचानक फिर ख़राब हुई और कार्डियक अरेस्ट की वजह से सरोज ख़ान ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। परिवार ने सरोज ख़ान का को आज ही सुपुर्द-ए-ख़ाक कर दिया है। परिवार वालों ने उन्हें मलाड के कब्रिस्तान में दफ़नाया। अब तीन दिन बाद प्रार्थना सभा का आयोजन करवाया जाएगा।

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस