नई दिल्ली, जेएनएन। पिछले कुछ घंटों में महाराष्ट्र की सियासत ने जिस तरह से करवट बदली है, वो किसी शानदार पॉलिटिकल थ्रिलर की पटकथा से कम नहीं। लगभग 80 घंटे मुख्यमंत्री रहने के बाद बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस को इस्तीफ़ा देना पड़ा। डिप्टी सीएम अजित पवार ने भी उनसे पहले इस्तीफ़ा दे दिया। महाराष्ट्र का यह सियासी ड्रामा लम्बे समय तक याद रखा जाएगा। चलिए, इसी बहाने याद कर लेते हैं उन बॉलीवुड फ़िल्मों को, जिनकी कहानी की पृष्ठभूमि सियासत पर लिखी गयी थी। 

राजनीति- प्रकाश झा की फ़िल्मों में सियासत की मौजदूगी किसी ना किसी रूप में रहती है, मगर उन्होंने राजनीति शीर्षक से फ़िल्म बनाई, जिसकी कहानी एक सियासी परिवार की अंदरूनी राजनीति के इर्द-गिर्द घूमती है। रणबीर कपूर, कटरीना कैफ़, अर्जुन रामपाल, नाना पाटेकर, मनोज बाजपेयी जैसे मंझे हुए कलाकारों ने इसमें काम किया था। 

नायक- महाराष्ट्र में जब से सियासी ड्रामा शुरू हुआ था, नायक सोशल मीडिया में छाई रही। इस फ़िल्म के नायक अनिल कपूर फ़िल्म में एक दिन के मुख्यमंत्री बनते हैं और एक ही दिन में राज्य का कायापलट करते हैं। फ़िल्म संदेश देती है कि अगर राजनेता वाकई लोगों के लिए काम करना चाहें तो 5 साल नहीं एक ही दिन काफ़ी होता है। फ़िल्म में अमरीश पुरी, रानी मुखर्जी, पूजा बत्रा और परेश रावल ने मुख्य किरदार निभाये।

न्यू दिल्ली टाइम्स- रमेश शर्मा निर्देशित फ़िल्म शशि कपूर, शर्मिला टैगोर, ओम पुरी और कुलभूषण खरबंदा ने मुख्य किरदार निभाये थे। फ़िल्म में राजनीति और मीडिया के भ्रष्ट गठबंधन की कहानी दिखायी गयी थी। इस फ़िल्म को गुलज़ार ने लिखा था।

आंधी- गुलज़ार लिखित निर्देशित आंधी हिंदी सिनेमा के कालजयी पॉलिटिकल फ़िल्म है, जिसमें संजीव कुमार और सुचित्रा सेन ने मुख्य किरदार निभाये थे। इसे पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जीवन से प्रेरित बताया गया था। हालांकि सिर्फ़ लुक तारकेश्वरी सिन्हा और इंदिरा गांधी से प्रेरित था।

किस्सा कुर्सी का- 1977 में आयी यह फ़िल्म पॉलिटिकल सेटायर थी, जिसमें शबाना आज़मी और राज किरन ने मुख्य किरदार निभाये थे। फ़िल्म देश की तत्कालानी राजनीति हालातों पर व्यंग्य कसती है। इसका निर्देशन अमृत नहाटा ने किया था। 

शंघाई- 2012 में आयी शंघाई को दिबाकर बैनर्जी ने निर्देशित किया था। फ़िल्म में अभय देओल, इमरान हाशमी, कल्कि कोचलिन और प्रोसेनजित चैटर्जी ने मुख्य किरदार निभाया थे। फ़िल्म की कहानी राजनीतिक विचारधाराओं के टकराव पर आधारित थी।

लीडर- राम मुखर्जी निर्देशित फ़िल्म में दिलीप कुमार और वैजयंती माला ने लीड रोल निभाये थे। इस फ़िल्म में राजनीति और अपराधियों के गठजोड़ को कहानी का आधार बनाया गया था।

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस