नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट वैसे तो हमेशा खबरों में रहती ही हैं, लेकिन 4 मई से कंगना सोशल मीडिया पर लगातार ट्रेंड कर रही हैं। वजह? वजह है उनका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होना। कंगना सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। अक्सर वो किसी न किसी मुद्दे को लेकर ट्विटर के जरिए ही अपनी राय रखती थीं। लेकिन हाल ही में कंगना का ट्विटर अकाउंट सस्पैंड कर दिया गया, जिसके बाद एक्ट्रेस को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगीं। अब इस बीच फेमस टीवी एक्टर करण पटेल ने कंगना रनोट का मज़ाक उड़ाया है और उन्हें देश की सबसे अच्छी स्टैंडप कॉमेडियन बताया है।

करण ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर कंगना के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर किया है जिसमें वो पर्यावरण और ऑक्सीज़न की भरपाई को लेकर अपनी बात रख रही हैं। कंगना के इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए करण ने लिखा, ‘ये महिला देश में पैदा हुई सबसे मज़ाकिया कॉमेडियन है’। करण का कमेंट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

आपको बता दें कि हाल ही में पश्चिम बंगाल चुनाव के नतीजों की घोषणा होने के बाद राज्य में छिड़ी हिंसा को लेकर कंगना लगातार कुछ न कुछ ट्वीट कर रही थीं। अपने ट्वीट में कंगना ने बंगाल में जीतने वाली पार्टी तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा था। जिसके बाद कंगना के कुछ ट्वीट्स को आपत्तिजनक मानते हुए उनका ट्विटर एकाउंट स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया है। हालांकि अपना अकाउंट सस्पेंड होने के बाद भी कंगना ने अपनी आवाज़ उठाई और कहा कि वो दूसरे सोशल प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए आवाज़ उठाती रहेंगी।

एकाउंट सस्पेंड होने के बाद कंगना ने आईएएनएस से कहा- 'ट्विटर ने मेरे इस प्वाइंट को सही साबित किया है कि ये अमेरिकी लोग हैं और जन्म से इनकी ऐसी सोच होती है कि ये ब्राउन लोगों को अपना दास मानकर चलते हैं। ये आपको बताना चाहते हैं कि क्या सोचना है, क्या बोलना है और क्या करना है। सौभाग्यवश, मैं और भी प्लेटफॉर्म्स पर हूं, जिनका इस्तेमाल मैं अपनी आवाज़ उठाने के साथ अपनी कला और सिनेमा को प्रमोट करने के लिए कर सकती हूं, लेकिन मेरा दिल इस देश के लोगों के लिए रो रहा है, जिन पर अत्याचार किया जा रहा है। उन्हें सालों से गुलाम बनाया जा रहा है और उनकी आवाज़ दबायी जा रही है। अभी भी उनके कष्टों का कोई अंत नहीं दिखता'।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप