नई दिल्ली, जेएनएन। सिनेमाघरों के बाद कंगना रनोट की फ़िल्म थलाइवी (हिंदी) नेटफ्लिक्स पर शुक्रवार रात रिलीज़ हो गयी। ओटीटी प्लेटफॉर्म पर फ़िल्म को अच्छा रिस्पॉन्स मिला है और भारत में सबसे अधिक देखी जाने वाली फ़िल्मों की लिस्ट में पहले स्थान पर चल रही है। फ़िल्म को दर्शक पसंद कर रहे हैं, मगर कुछ लोगों को छोड़कर बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ थलाइवी को लेकर चुप हैं। इस बीच कंगना ने थलाइवी पर चुप्पी को लेकर एक बार फिर बॉलीवुड माफ़िया पर निशाना साधा है। कंगना ने कहा कि आर्ट के सम्मान के लिए हमें अपने राजनीतिक मतांतरों को परे रख देना चाहिए।

कंगना ने अपनी नाख़ुशी इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक नोट के ज़रिए ज़ाहिर की। कंगना ने लिखा- इस बीच इंतज़ार कर रही हूं कि बॉलीवुड माफ़िया हमारे वैचारिक और राजनैतिक मतभेदों को दरकिनार करके जैसे मेरे लिए सच्ची कला की तारीफ़ करना मुश्किल नहीं है, वैसे ही वो भी घटिया सियासत और जज़्बात से ऊपर उठकर कला की जीत होने देंगे। बता दें, थलाइवी का निर्देशन विजय ने किया है।

यह तमिलनाडु की 6 बार मुख्यमंत्री रह चुकीं जे जयललिता की बायोपिक है। जयललिता ने एक बेहतरीन अभिनेत्री से राज्य की सीएम तक का सफ़र तय किया था। फ़िल्म में उनके इसी सफ़र को दिखाया गया है। अरविंद स्वामी ने तमिल सिनेमा के लीजेंड्री कलाकार एजीआर का किरदार निभाया है, जो राज्य में मुख्यमंत्री बनने वाले पहले फ़िल्म एक्टर थे। हालांकि, फ़िल्म में एजीआर को एमजेआर कहा गया है।

कंगना पहले भी इस मसले पर बोलती रही हैं और बॉलीवुड के एक ग्रुप पर पक्षपात करने के आरोप लगाती रही हैं। थलाइवी सिनेमाघरों में 10 सितम्बर को रिलीज़ हुई थी। हालांकि, फ़िल्म के बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन अच्छे नहीं रहे। आम तौर पर बॉलीवुड फ़िल्में एक महीने बाद ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आती हैं, मगर थलाइवी 15 दिनों के बाद ही नेटफ्लिक्स पर आ गयी। 

प्राइम पर आएगी दक्षिण भारतीय भाषा में थलाइवी

थलाइवी को हिंदी के साथ तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ में भी रिलीज़ किया गया है। दक्षिण भारतीय भाषाओं में थलाइवी अमेज़न प्राइम पर 10 अक्टूबर को स्ट्रीम की जा रही है। नेटफ्लिक्स पर सिर्फ़ हिंदी वर्ज़न ही रिलीज़ किया गया है। 

Edited By: Manoj Vashisth