नई दिल्ली, जेएनएन। कंगना रनोट काफ़ी वक़्त बाद अपने मुंबई स्थित दफ़्तर एक मीटिंग के लिए गयीं, मगर दफ़्तर की हालत देखकर वो इमोशनल हो गयीं। कंगना ने ऑफ़िस की तस्वीरों के साथ अपना दर्द सोशल मीडिया में बयां किया। बता दें, पिछले साल सितम्बर में बीएमसी ने अवैध निर्माण के आरोपों को लेकर कंगना के रिहायशी दफ़्तर में तोड़फोड़ की थी। हालांकि, एक्ट्रेस यह केस बॉम्बे हाई कोर्ट में जीत चुकी हैं। 

कंगना का दफ़्तर मुंबई के पॉश इलाक़े पाली हिल्स में स्थित है। सोमवार को कंगना ने ट्वीट करके बताया कि वो इमरडेंसी की एक मीटिंग के लिए अपने ऑफ़िस गयी थीं। कंगना ने लिखा- मैं अपने घर पर मीटिंग्स कर रही हूं। आज अक्षत रनोट (कंगना के भाई) के ज़ोर देने पर मैं इमरजेंसी से संबंधित एक मीटिंग के दफ़्तर गयी थी। मैं तैयार नहीं थी और मेरा दिल एक बार फिर टूट गया। अपने ट्वीट में कंगना ने बताया कि अक्षत ने उनके साथ मिलकर प्रोडक्शन कंपनी मणिकर्णिका फ़िल्म्स की स्थापना की है और उन पर दर्ज़ 700 केसों को वो अकेले हैंडल कर रहे हैं। 

कंगना ने इससे पहले अपने घर पर अगली फ़िल्म तेजस की टीम के साथ भी एक मीटिंग की थी, जिसकी तस्वीरें उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट की थीं। इन तस्वीरों के साथ कंगना ने लिखा था- बेहद ख़ास रविवार। मेरी तेजस की टीम रीडिंग्स के लिए आयी। अपने नये क्रू की मेजबानी करके अच्छा लगा। अब अगले  कुछ महीनों के लिए यही मेरा परिवार है। तेजस में कंगना एक एयरफोर्स अधिकारी के किरदार में दिखेंगी।

पिछले साल नवम्बर में बॉम्ब हाई कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा था कि कंगना का ऑफ़िस में बीएमसी ने बदनीयती के साथ तोड़फोड़ की है। कंगना ने बीएमसी की तोड़फोड़ के बाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर करके 2 करोड़ मुआवज़े की मांग और तोड़फोड़ को ग़ैरकानूनी करार देने की मांग की थी। कंगना की इस साल दो फ़िल्में रिलीज़ हो रही हैं। धाकड़ पहली अक्टूबर को और थलैवी 23 अप्रैल को आ रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021