नई दिल्ली, जेएनएन। देश भर में इस वक़्त सिटिज़नशिप अमेंडमेंट एक्ट का मुद्दा छाया हुआ है। इसको लेकर कई प्रदेशों में लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। जहां कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं, वहीं बड़ी संख्या में लोग इसके समर्थन में भी हैं। देश की राजधानी दिल्ली का मिज़ाज भी इससे अलग नहीं है, जहां जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं का विरोध सुर्खियों में छाया हुआ है। इसको लेकर बॉलीवुड से भी प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं। 

देश से जुड़े मुद्दों पर अपनी राय रखते रहे अक्षय कुमार का नाम भी इस मुद्दे से जुड़ गया, जब जाने-अनजाने उन्होंने जामिया मिलिया स्टूडेंट्स से संबंधित एक ट्वीट को लाइक कर दिया। भूल का एहसास होते ही अक्षय ने इस ट्वीट को अनलाइक किया और अपनी टिप्पणी भी रखी। अक्षय ने ट्वीट किया-  जामिया मिलिया के स्टूडेंट्स के ट्वीट को लाइक करने के संबंध में, यह भूलवश हुआ था। मैं स्क्रॉल कर रहा था और तभी यह दब गया होगा और जब मुझे महसूस हुआ, मैंने फौरन अनलाइक कर दिया, क्योंकि मैं किसी भी सूरत से ऐसे कामों को सपोर्ट नहीं करता। 

अक्षय की सफाई के बहाने जामिया मिलिया स्टूडेंट्स के मुद्दे पर अक्षय की राय सबको पता चल चुकी है। बहरहाल, इस मामले को लेकर बॉलीवुड सेलेब्स दो खेमों में बंट गये हैं। कुछ विद्यार्थियों पर होने वाले पुलिस एक्शन को ग़लत कह रहे हैं तो कुछ ऐसे भी हैं, जो उनके तरीक़े की निंदा कर रहे हैं।विक्की कौशल ने इस मुद्दे पर बेहद ज़रूरी बात अपने ट्वीट में कही। उन्होंने लिखा- आज जो हो रहा है, सही नहीं है। जिस ढंग से हो रहा है, ठीक नहीं है। लोगों को शांति से अपनी बात कहने का हक़ है। यह हिंसा और विध्वंस दोनों दुखदायी और देश का नागरिक होने के नाते चिंतनीय हैं। किसी भी परिस्थिति में, जम्हूरियत से हमारा भरोसा नहीं उठना चाहिए। 

तापसी पन्नू ने ट्वीट करके लिखा कि पता नहीं, यह शुरुआत है या अंत। जो भी है, यह तो पक्का है कि नये नियम लिखे जा रहे हैं और जो इसमें फिट नहीं होते, उनका अंजाम देखा जा सकता है। इसके साथ तापसी ने एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसके बारे में लिखा है कि यह दिल तोड़ने वाला है। यह नुक़सान पलटा नहीं जा सकता और मैं सिर्फ़ लाइफ़ और प्रॉपर्टी की बात नहीं कर रही।

कोंकणा सेन शर्मा ने ट्वीट करके स्टूडेंट्स का समर्थन किया है और दिल्ली पुलिस के बर्ताव की निंदा की है। कोंकणा ने लिखा- हम विद्यार्थियों के साथ हैं।

काफ़ी वक़्त बाद ट्विटर पर लौटे अनुराग कश्यप ने भी ट्वीट करके इस मुद्दे पर रोष ज़ाहिर किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि जो आवाज़ें कुछ कर सकती हैं, उन्हें ही दबाया जा रहा है। 

राइटर और फ़िल्म निर्माता चेतन भगत जामिया और सीएबी मुद्दे पर लगातार ट्वीट कर रहे हैं। ताज़ा ट्वीट में उन्होंने लोगों के बीच बढ़ती वैचारिक दूरी पर चिंता ज़ाहिर की है। 

वहीं फ़िल्ममेकर अनुभव सिन्हा ने उन सेलेब्रिटीज़ के प्रति रोष ज़ाहिर किया है, जो ख़ुद को जनता का आइकन मानते हैं, मगर ज्वलंत मुद्दों पर ख़ामोशी साधकर सिर्फ़ अपना बिजऩेस करते रहते हैं। छपाक में दीपिका पादुकोण के साथ आ रहे विक्रांत मैसी ने जामिया स्टूडेंट्स द्वारा प्रदर्शन करते हुए एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें वो अम्बेडकर और गांधी की फोटो के साथ दिख रहे हैं। इसके साथ उन्होंने लिखा- हम अपनी जड़ों को नहीं भूले हैं।

वहीं, कोएना मित्रा ने जलती बस के एक फोटो के साथ जामिया के स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए लिखा- प्रिय जामिया स्टूडेंट्स, यह विरोध नहीं, आतंकी हमले हैं। अब सारे विक्टिम बन गये? उन्होंने सवाल उठाया कि सार्वजनिक संपत्ति को जलाना क्या स्टूडेंट्स का काम है? वहीं, निर्देशक मिलाप ज़वेरी ने लिखा कि ताली दोनों हाथों से बजती है। जिनका फ़र्ज़ है खाकी वर्दी पहने कानून की रखवाली और रक्षा करना, वो रक्षा करें तानाशाही नहीं। और जिनका काम है पढ़ना, वो पढ़ाई करें, बेशक आवाज़ उठाइए, तोड़फोड़ और लड़ाई ना करें। 

Posted By: Manoj Vashisth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस