मुंबई। 16 अक्टूबर को ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी का जन्मदिन होता है। इस साल हेमा 70 साल की हो गई हैं। इस उम्र में भी उनका जादू और करिश्मा कायम है। फ़िल्मों से निकलकर सामाजिक और राजनीतिक फील्ड में भी उनकी एक अलग पहचान है!

क्या आप जानते हैं हेमा मालिनी साल 2007 में नेत्रदान कर चुकी हैं। उन्होंने तब अपने एक बयान में कहा भी कि- "हमें हर साल 2 लाख लोगों के लिए आंखें चाहिए जबकि हमें लगभग 30 हज़ार आंखें ही दान में मिल रही हैं। ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसमें सक्रिय होना चाहिए।" ड्रीम गर्ल हेमा की आंखों का यह सपना कितना खूबसूरत है न? आइये उनके बर्थडे पर जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ ख़ास बातें!

यह भी पढ़ें: पुलिस स्टेशन पहुंची तनुश्री दत्ता, चेहरे पर दिखा कमाल का आत्मविश्वास, देखें तस्वीरें

बायोग्राफी

पिछले साल उनके बर्थडे के मौके पर उनकी बायोग्राफी भी आयी। हेमा की बायोग्राफी का नाम 'बियॉन्ड द ड्रीम गर्ल' (Beyond The Dream Girl) है। हेमा की बायोग्राफी को एक प्रसिद्ध मैगजीन के पूर्व एडिटर और प्रोड्यूसर राम कमल मुखर्जी ने लिखा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हेमा मालिनी की आधिकारिक जीवनी 'बियॉन्ड द ड्रीमगर्ल' के लिए प्रस्तावना के तौर पर बहुत संक्षिप्त, सटीक और मिठास से भरी बातें लिखी हैं।

14 साल की उम्र में करियर 

चेन्नई में जन्मीं हेमा मालिनी की शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। हिस्ट्री उनका फेवरेट सब्जेक्ट रहा है। लेकिन, वह अपनी स्कूल की पढ़ाई भी पूरी नहीं कर सकीं। क्योंकि उन्हें लगातार फ़िल्मों के ऑफर मिलने लगे थे। हेमा ने अपने करियर की शुरुआत महज 14 साल की उम्र में कर दी थी।

राजकपूर की 24 साल छोटी हीरोइन

हेमा मालिनी की पहली फ़िल्म साल 1961 में रिलीज़ हुई थी। जिसका नाम था- 'पांडव वनवासन'। इस तेलुगु फ़िल्म में हेमा ने एक नर्तकी का किरदार किया था। हेमा की पहली हिंदी फ़िल्म 'सपनों का सौदागर' (1968) थी जिसमें हेमा राजकपूर की हीरोइन बनी थीं। उस वक़्त 20 साल की हेमा राजकपूर से उम्र में 24 साल छोटी थीं।

शाह रुख़ ख़ान को किया डायरेक्ट

हेमा की पहली डायरेक्टेड फ़िल्म 'दिल आशना है' थी, जिसमें उन्होंने शाह रुख़ ख़ान को डायरेक्ट किया था। हेमा एक ट्रेंड क्लासकिल डांसर भी हैं। वो भरतनाट्यम, कुचीपुड़ी और ओडिसी में पूरी तरह ट्रेंड है और अक्सर दुनिया भर में स्टेज शोज़ करती रहती हैं।

हेमा के दीवाने

क्या आप जानते हैं हेमा मालिनी को धर्मेंद्र के अलावा जीतेंद्र और संजीव कुमार भी बहुत पसंद करते थे और उनसे शादी करना चाहते थे। उस बीच ऐसी भी ख़बरें आ रही थीं कि जीतेंद्र और हेमा मालिनी ने शादी करने का फ़ैसला कर लिया और वो चेन्नई में हैं। उस वक़्त जीतेंद्र का अपनी शोभा (वर्तमान पत्नी) के साथ भी रोमांस चल रहा था। ये पता लगते ही धर्मेंद्र, शोभा को लेकर मद्रास पहुंच गए और कहा जाता है वहां शोभा ने हंगामा मचा दिया जिससे जीतेंद्र और हेमा की शादी नहीं हो पाई। बाद में धर्मेंद्र ने हेमा मालिनी से शादी की। बता दें क‍ि हेमा मालिनी ने 1980 में मशहूर अभिनेता धर्मेंद्र से शादी की थी।

धर्मेंद्र-हेमा की सुपर हिट जोड़ी

1970 के दशक में धर्मेंद्र और हेमा किसी भी फ़िल्म को हिट कराने की गारंटी माने जाते थे। धर्मेंद्र-हेमा ने पहली बार 1970 में रिलीज हुई फ़िल्म 'शराफत 'में काम किया था। लेकिन, ये फ़िल्म बहुत ज्यादा नहीं चली। इसके बाद धर्मेंद्र-हेमा की जोड़ी 'नया जमाना' में साथ दिखी। पर इस जोड़ी ने सक्सेस का स्वाद चखा फ़िल्म 'सीता और गीता' से। 'शोले' की बंपर कामयाबी के बाद तो लोग इन्हें वीरू और बसंती के नाम से बुलाने लगे! धर्मेंद्र-हेमा की जोड़ी ने बॉलीवुड को कई यादगार फ़िल्में दी हैं। दोनों ने करीब 27 फ़िल्मों में साथ काम किया और इनमें से 16 फ़िल्में सुपर हिट रही हैं।

राजनीति के मैदान में

हेमा मालिनी की राजनीतिक पारी साल 1999 में शुरू हुई जब उन्होंने पहली बार भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करना शुरू किया। 2004 में हेमा सक्रिय राजनीति में आईं। फिलहाल वे मथुरा से लोकसभा सांसद हैं। जागरण डॉट कॉम के तमाम पाठकों की तरफ से उन्हें जन्मदिन की ढेरों मुबारकबाद!

Posted By: Hirendra J

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप