अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। मशहूर सिंगर हरिहरन अपने नए गजल सिंगल अफ़साने के साथ आये हैं। इस गजल सिंगल को लेकर हरिहरन बेहद खुश हैं और उनका इससे खास लगाव इन कारणों से भी हैं, क्योंकि उनके बड़े बेटे अक्षय ने इसे कम्पोज किया है तो छोटे बेटे करण ने इसमें एक्टिंग की है। 

हरिहरन ने जागरण डॉट कॉम से बातचीत में कहा कि वह अमिता परशुराम के साथ कई गजल कंसर्ट करते रहते हैं। वह कहते हैं कि अमिता ने ही कहा कि कुछ नया करते हैं तो मैंने कहा कि चलो सिंगल बनाते हैं, क्योंकि आजकल सिंगल का ही जमाना है। मैंने धुन बनाई और मेरे बड़े बेटे अक्षय ने इसे ऑर्केस्ट्राई किया। वह संगीत में है। छोटे बेटे करण ने इस म्यूजिक विडो के को-प्रोड्क्शन को कम किया है और एक्टिंग भी की है। इस गजल सिंगल की खासियत है कि ये मैंने ट्रेडिशनल अंदाज़ में ही गाया है। लेकिन मेरे बेटे अक्षय ने संगीत कंटेम्पररी दिया है। हरिहरन कहते हैं कि अब के दौर में नॉन फिल्मी एल्बम को प्रमोट करना कठिन हो गया है। आजकल लोग गाने सिर्फ सुनते नहीं हैं, बल्कि देखते अधिक हैं।

90 के दौर को मिस करते हैं, इस सवाल के जवाब में हरिहरन कहते हैं कि मैंने अपनी जिंदगी के 35 गजल एल्बम दिए हैं, गजल के लिए जो पहला म्यूजिक वीडियो बना है गुलफाम, वो 90 के दशक में ही बना था। मैंने ही बनाया था। तब से मैं गजल की साधना में ही लगा हूं। वह कहते हैं कि गजल हमेशा ज़िंदा रहेगी। जब तक प्यार है और महबूबा है, तब तक। दर्द के बिना गजल नहीं बनता। हरिहरन कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि गजल आज भी फिल्मों का हिस्सा नहीं बन सकते। लेकिन कहानी से उसका जुड़ा होना जरूरी है। जब उमराव जान दोबारा बनी तब भी उसमें गजल था।

यह पूछे जाने पर कि आजकल के गाने याद क्यों नहीं रह पाते। हरिहरन कहते हैं कि हम हर महीने कई गाने सुनते हैं, हर दिन तो ढेर सारे गाने आ रहे हैं। स्मार्टफोन एप की वजह से इतने सारे म्यूजिक एप है जिसमें लोग लगातार गाने सुन रहे हैं। यह पूछे जाने पर कि हरिहरन तो साउथ इंडियन हैं, फिर गजल में दिलचस्पी कैसे बढ़ी।वह बताते हैं कि उन्होंने शुरुआती दौर से ही काफी मेहनत की। उन्होंने उर्दू सीखी। जयदेव ने पहली बार अपनी फिल्म गमन में गाने का मौका दिया, जिसके बाद उन्होंने हरिहरन को सलाह दी कि तू मद्रासी है, लेकिन उर्दू सीख लो, फिर उन्होंने चांद बाला जी से मिलवाया। वह लखनऊ से थीं और मुंबई में रहती थीं। उन्हीं से फिर उर्दू सीखी।हरिहरन के बेटे करन का कहना है कि अपने पापा की वजह से ही उन्हें भी शास्त्रीय संगीत से बेहद प्यार हो गया। लेकिन उन्हें एक्टिंग में भी काफी दिलचस्पी है और जल्द ही वह एक हिंदी फिल्म का हिस्सा भी बने नज़र आयेंगे।

यह भी पढ़ें: शाहिद कपूर और मीरा ने मुंबई में खरीदे 56 करोड़ के डुप्लेक्स

यह भी पढ़ें: बैटल ऑन बॉक्स ऑफिस : अनुपम-शाहरुख़ ने किया है कई फिल्मों में साथ काम, मगर अब होगी टक्कर

 

Posted By: Rahul soni

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस