नई दिल्ली,जेएनएन। ऑस्कर जीतने वाले म्यूज़िशियन ए आर रहमान छह जनवरी को अपना जन्मदिन मना रहे हैं। ए आर रहमान के साथ एक ख़ास बात है कि वह अपना नाम बदल चुके हैं। उनका पहले नाम दिलीप कुमार था। बाद में उन्होंने बदलकर अपना नाम 'अल्लाह रक्खा रहमान' रख लिया। इसको लेकर एक दिलचस्प कहानी है। एक इंटरव्यू में ए आर रहमान ने इसके पीछे कहानी बताई थी।

ज्योतिषी ने दी थी सलाह

नाम बदलने को लेकर ए आर रहमान ने बताया था उन्हें उनका नाम पसंद नहीं था। उनको लगता था कि वह उनके इमेज़ से मेल नहीं खाता है। लेकिन उन्होंने अपनी मन से अपना नाम नहीं बदला था। ए आर रहमान के मुताबिक, उनकी मां एक ज्योतिषी के पास गई थी। वह, उनकी बहन की राशिफल जानना चाहते हैं, क्योंकि वह उसकी विवाह में इंट्रेस्टेड थी। यह वही वक्त था, जब ए आर रहमान अपना नाम बदलान चाहते थे। 

ज्योतिषी ने कहा कि 'अब्दुल रहमान' या 'अब्दुल रहीम' नाम ए आर रहमान के लिए अच्छा होगा। 'रहमान' का नाम उस वक्त के 'दिलीप' को पसंद आया। इस तरह 'दिलीप कुमार' 'ए आर रहमान' हो गए। कमाल की बात है कि  दिलीप कुमार उर्फ ए.आर रहमान की पत्नी का नाम सायरो बानो है और मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार की पत्नी का नाम भी सायरो बानो ही है। 

पीर से प्रभावित होकर बदला था धर्म

ए आर रहमान हिंदू धर्म में पैदा हुए थे। बाद में उन्होंने अपना धर्म बदल लिया था। एक इंटरव्यू में ए आर रहमान ने इस के पीछे की कहानी भी बताई थी। साल 1986 में पिता के मृत्यु के बाद वह कादरी साहेब के संपर्क में आए थे। यहीं से उन्हें सूफी को लेकर एक विचार आया। ए आर रहमान की मां भी पीर से आध्यात्मिक रूप से काफी करीब थी। पीर के ही प्रभाव में आने के बाद ए आर रहमान ने धर्म बदला। इसको लेकर रहमान कहना कि इसके लिए उन्हें कभी किसी ने फोर्स नहीं किया। 

Posted By: Rajat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस