नई दिल्ली, जेएनएन। सोशल मीडिया में दीपिका पादुकोण की जेएनयू विजिट का मुद्दा पहले ही गर्माया हुआ है, जिसके चलते छपाक को बॉयकॉट करने की मुहिम चलाई जा रही है। इस बीच फ़िल्म को लेकर एक और विवाद खड़ा गया। सोशल मीडिया में कुछ लोगों ने यह आरोप लगाया है कि फ़िल्म के विलेन का नाम जानबूझकर बदल दिया गया है। 

बुधवार को ट्विटर पर अचानक 'नदीम ख़ान' और 'राजेश' नाम ट्रेंड होने लगे। सोशल मीडिया ऐसे ट्वीट्स से भर गया, जिनमें विलेन के नाम को लेकर छपाक के मेकर्स को ट्रोल किया गया। शाम 7 बजे तक नदीम ख़ान को लेकर लगभग 90 हज़ार ट्वीट किये गये थे, जबकि राजेश को लेकर लगभग 80 हज़ार ट्लीट सर्कुलेट हो रहे थे।

कैसे शुरू हुआ बवाल

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, एक मैगज़ीन में यह स्टोरी आयी थी कि छपाक में दीपिका के किरदार पर तेज़ाब फैंकने वाले किरदार का नाम राजेश रखा गया है, जिसके बाद सारा बवाल शुरू हुआ। लेख में दावा किया गया था कि फ़िल्म में नईम की जगह राजेश नाम का इस्तेमाल किया गया है। लेख में यह भी आरोप लगाया गया था कि ऐसा इरादतन किया गया है। 

नईम की जगह नदीम हुआ ट्रेंड

'छपाक' एसिड अटैक सर्वायवर लक्ष्मी अग्रवाल की बायोपिक है, जिन पर 2005 में नईम ख़ान उर्फ़ गुड्डू नाम के युवक ने दिल्ली के ख़ान मार्केट में एसिड फैंका था। यह भी ग़ौर करने वाली बात है कि लक्ष्मी अग्रवाल पर एसिड अटैक करने वाले युवक का नाम नईम था, मगर ट्विटर पर नदीम ख़ान ट्रेंड हो रहा था। 

छपाक में ना नदीम ना नईम

पीटीआई की रिपोर्ट में पुष्टि की गयी है कि छपाक में नदीम या नईम नामों का कोई ज़िक्र ही नहीं किया गया है। राजेश मालती के एक दोस्त का नाम है, ना कि विलेन का। फ़िल्म में मुख्य किरदारों के नाम बदल दिये गये हैं। लक्ष्मी की जगह मालती और नईम की जगह बशीर ख़ान यानि बब्बू इस्तेमाल किया गया है। 

दीपिका की जेएनयू विजिट के बाद उपजे विवाद ने इस मामले को हवा दी थी। छपाक का निर्देशन मेघना गुलज़ार ने किया है। फ़िल्म में विक्रांत मैसी दीपिका के साथ नज़र आएंगे। 2018 की फ़िल्म पद्मावत के बाद दीपिका इस फ़िल्म के ज़रिए बड़े पर्दे पर वापसी कर रही हैं। बॉक्स ऑफ़िस पर 'छपाक' की टक्कर अजय देवगन की 'तानाजी- द अनसंग वॉरियर' से होगी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस