नई दिल्ली, जेएनएन। Aham Brahmasmi A movement : अहं ब्रह्मास्मि-ए मूवमेंट। यह नाम है मेनस्ट्रीम सिनेमा में बनी पहली संस्कृत मूवी का। इस संस्कृत फिल्म का प्रीमियर धर्म, मंदिर और आध्यात्म की नगरी काशी के एक मल्टीप्लेक्स में हुआ। ये महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चंद्रशेखर आजाद के जीवन पर बनाई गई है।

फिल्म के निर्माता आजाद का दावा है कि हॉलीवुड और बॉलीवुड की तरह ही आने वाले दिनों में संस्कृत भाषा की फिल्मों को भी पसंद किया जाएगा। आजाद ही फिल्म के लेखक, संपादक, निर्देशक भी हैं। फिल्म मात्र 105 मिनट की है। फिल्म का मकसद है, संस्कृत को बढ़ावा देना और युवाओं को संस्कृत भाषा के प्रति जागरूक करना है। फिल्म का निर्माण कामिनी दुबे, द बॉम्बे टाकीज स्टूडियो और आजाद फेडरेशन ने मिल कर किया है।

वाराणसी, प्रयागराज, दिल्ली में शूटिंग
वाराणसी में इस फिल्म का प्रीमियर खास था क्योंकि मूवी की शूटिंग ज्यादातर वाराणसी, प्रयागराज, दिल्ली, मुंबई  में हुई है। वाराणसी में फिल्म का प्रीमियर शो देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचे।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

#TheBombayTalkiesStudios Invites You for the #Premiere Of #FirstMainstream #SanskritFilm of World Cinema #AhamBrahmasmi #जयतुसंस्कृतम् #JayatuSanskritam #आज़ाद #Aazaad #SamskritaBharati #संस्कृतिभारती #PvrIcon #VasantKunj #delhi

A post shared by AAZAAD (@aazaad1947) on

कौन हैं फिल्म के निर्देशक आजाद
अहं ब्रह्मास्मि-ए मूवमेंट एक सैन्य स्कूल के पूर्व छात्र और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित फिल्म निर्माता आज़ाद ने बनाई है। आजाद की  पिछली फिल्म राष्ट्रपुत को प्रतिष्ठित 72 वें कान अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में प्रदर्शित किया गया था।

Posted By: Vineet Sharan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप