मुंबई। बॉलीवुड फ़िल्में वैसे तो तमाम विषयों पर बनायी जाती हैं, मगर कई बार कैमरा इंडस्ट्री पर ही घूम जाता है। कहानी की पृष्ठभूमि में फ़िल्म इंडस्ट्री रहती है। ऐसी ही फ़िल्म है 'जूली2'।

इस इरोटिक थ्रिलर फ़िल्म की कहानी एक लड़की के इर्द-गिर्द घूमती है जो स्टार बनना चाहती है, लेकिन इंडस्ट्री में उसे बने रहने के लिए तमाम मुश्किलों से गुज़रना पड़ता है। दीपक शिवदसानी निर्देशित फ़िल्म से साउथ इंडियन एक्ट्रेस राय लक्ष्मी लीड रोल में डेब्यू कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: जर्नालिस्ट गौरी लंकेश की हत्या से बॉलीवुड स्तब्ध, जावेद-शबाना समेत ने कई ने की निंदा

2016 में रिलीज़ हुई शाह रुख़ ख़ान की फ़िल्म 'फ़ैन' की पूरी कहानी फ़िल्मी थी। मनीष शर्मा डायरेक्टेड फ़िल्म की कहानी के केंद्र में एक सुपरस्टार और उसका फ़ैन था। फ़ैन की दीवानगी किस तरह उसे विलेन बना देती है और कैसे सुपरस्टार की ज़िंदगी और करियर ख़तरे में पड़ जाते हैं, यही फ़िल्म का आधार था। ये दोनों किरदार शाह रुख़ ख़ान ने ही निभाये थे। 

यह भी पढ़ें: Top 10 ओपनिंग वीकेंड में बादशाहो 8वें नंबर पर, जानें किसने किया टॉप

 

2012 में रिलीज़ हुई मधुर भंडारकर की 'हीरोइन' फ़िल्मी दुनिया पर आधारित थी, जिसमें एक सुपरस्टार एक्ट्रेस के डाउनफॉल को दिखाया गया। अपना स्टारडम बचाने के लिए वो किस हद तक जा सकती है, ये फ़िल्म में दिखाया गया। करीना कपूर हीरोइन के किरदार में थीं, जबकि अर्जुन कपूर और रणदीप हुड्डा अहम किरदारों में दिखायी दिये।

2011 में आयी विद्या बालन की 'द डर्टी पिक्चर' एक बी ग्रेड फ़िल्मों की एक्ट्रेस की ज़िंदगी पर आधारित फ़िल्म थी, जो साउथ इंडियन फ़िल्मों की सेंसेशन कही जाने वाली सिल्क स्मिता की ज़िंदगी से प्रेरित थी। मिलन लूथरिया निर्देशित फ़िल्म में इमरान हाशमी, नसीरूद्दीन शाह और तुषार कपूर ने सपोर्टिंग किरदार प्ले किये थे।

यह भी पढ़ें: मिलिए तारे ज़मीं पर के आमिर और ऐसे यादगार टीचर्स से

2009 में आयी शाह रुख़ की होम प्रोडक्शन फ़िल्म 'बिल्लू' की कहानी भी फ़िल्म स्टार और उसके दोस्त के आस-पास घूमती है। इस फ़िल्म में इरफ़ान ख़ान ने लीड रोल निभाया था, जबकि लारा दत्ता उनकी बीवी के किरदार में थीं। शाह रुख़ ने फ़िल्म में सुपरस्टार का किरदार प्ले किया था। प्रियदर्शन ने इस फ़िल्म को डायरेक्ट किया था।

 

2009 में रिलीज़ हुई ज़ोया अख़्तर की डायरेक्टोरियल डेब्यू फ़िल्म 'लक बाय चांस' में फ़रहान अख़्तर ने लीड रोल निभाया था और ये एक स्ट्रगलर के सुपरस्टार बनने की कहानी थी। फ़िल्म कोंकणा सेन शर्मा फ़ीमेल लीड रोल में नज़र आयीं। 

यह भी पढ़ें: धोनी और सोनाक्षी से रहा है इस पहलाज निहलानी की इस जूली का कनेक्शन

2008 में आयी राजकुमार संतोषी निर्देशित अजय देवगन की फ़िल्म 'हल्ला बोल' एक ऐसे सुपरस्टार के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपना अतीत भूल जाता है, लेकिन ज़िंदगी में कुछ ऐसा होता है कि वो अपनी जड़ों की ओर लौटता है। फ़िल्म में विद्या बालन अजय की पत्नी के किरदार में थीं, जबकि पंकज कपूर ने एक अहम रोल निभाया था।

2007 में शाह रुख़ अपनी हिट फ़िल्म 'ओम शांति ओम' में भी फ़िल्म इंडस्ट्री दिखा चुके हैं। इस फ़िल्म की कहानी पुनर्जन्म पर आधारित थी। शाह रुख़ एक जन्म में स्ट्रगलर एक्टर बनते हैं, जो एक सुपरस्टार नायिका से एकतरफ़ा प्यार करता है, जबकि दूसरे जन्म में वो ख़ुद सुपरस्टार बने नज़र आते हैं। फ़राह ख़ान निर्देशित इस फ़िल्म से दीपिका पादुकोण ने डेब्यू किया था।

यह भी पढ़ें: सारा के डेब्यू से लेकर करीना की वापसी तक, सितंबर में शुरू हो रही हैं 5 फ़िल्में

 

Posted By: मनोज वशिष्ठ

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप