नई दिल्ली, जेएनएन। दुनिया के सबसे बड़े घुमंतू फ़िल्म फ़ेस्टिवल 10th Jagran Film Festival का उद्घाटन दिल्ली में सूचना एंव प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने किया था। उद्धाटन समारोह में अनिल कपूर, फराह ख़ान, शोबु यरलागडा, केतन मेहता और फ़िल्म क्रिटिक राजीव मसंद शामिल हुए थे। देशभर में 17 शहरों में घूमने के बाद अब बारी है इसके बहुप्रतीक्षित मुंबई चैप्टर की। 

26 सितम्बर से 29 सितम्बर तक पैनल डिस्कशन आयोजित किये जाएंगे। इसके अलावा फीचर फ़िल्मों, डॉक्यूमेंट्री और मास्टर क्लासेज़ का आयोजन किया जाएगा। मुंबई चैप्टर की शुरुआत रोहन गेरा की सर फ़िल्म से होगी, जो कामकाजी महिलाओं के अधिकारों पर बात करती है। फ़िल्म की स्क्रीनिग 26 सितम्बर को होगी। फ़िल्म की कहानी एक ऐसी महिला के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसकी आंखों में हज़ारों सपने बसते हैं और जो ज़िंदगी के प्रति आशावादी नज़रिया रखती है। अपने इसी हक़ के लिए वो हमेशा लड़ती है।

निर्देशक रोहन गेरा के साथ सवाल-जवाब का विशेष सत्र भी होगा। समापन अमेरिकी फ़िल्म ब्लाइंडस्पॉटिंग से होगा। फ़ेस्टिवल में दुनिया भर से 20 फ़िल्मों दिखाई जाएंगी, जिनका भारतीय प्रीमियर होगा। 40 से अधिक फीचर फ़िल्मों और लगभग 30 शॉर्ट फ़िल्मों व वृत्तचित्रों की मुंबई में स्क्रीनिंग होगी। इसके अलावा लाला कलंदर, मर्दानी मावला, मस्क और वायरस की स्क्रीनिंग भी होगी। ताई पेई इकॉनॉमिक व कल्चरल सेंटर के सहयोग से 4 ताइवानी फ़िल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी।

ब्रेस्ट एंड हाउस, मिसिंग जॉनी, बैड बॉय सिम्फनी और हैन डैन कुछ और नाम हैं। इस बार अर्जेंटीना फ़ेस्टिवल में फोकस पर है, जिसके तहत अर्जेंटीनाई फ़िल्मों का प्रदर्शन होगा। श्रद्धांजलि भाग में कादर ख़ान की फ़िल्म दिखाई जाएगी और इंडियाज़ परस्पेक्टिव के तहत अनिल कपूर की फ़िल्म की स्क्रीनिंग होगी।

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप