हैदराबाद, आइएएनएस। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है। तेलंगाना छोड़कर भागने वाले योगी के बयान पर ओवैसी ने कहा, ' भारत मेरे अब्बा का देश है, कोई भी जबरन यहां से मुझे भगा नहीं सकता।' रविवार को एक चुनावी रैली में योगी को निशाने पर लेते हुए ओवैसी ने कहा, 'यह मेरी धार्मिक धारणा है कि पैगंबर आदम जब स्वर्ग से पृथ्वी पर उतरे, तो वह भारत आए। इस प्रकार भारत मेरे अब्बा (पिता) का देश है और कोई भी मुझे यहां से भागने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है।'

ओवैसी को लेकर क्या बोले थे योगी 

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तंदूर में आयोजित चुनावी रैली में उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का घेराव करते हुए कहा था, 'अगर भाजपा सत्ता में आती है तो ओवैसी को ठीक उसी तरह तेलंगाना से भागना होगा, जैसे निजामों को हैदराबाद से बाहर भागना पड़ा था।'

इतिहास में आप जीरो हैं : ओवैसी 

उनके इस बयान पर पलटवार करते हुए ओवैसी ने कहा कि योगी के पास इतिहास की जानकारी की कमी है। उन्होंने कहा, 'इतिहास में आप जीरो हैं। निजाम मीर उस्मान अली ख़ान हैदराबाद से भागे नहीं थे। उन्हें राजप्रमुख बनाया गया था। जब चीन से जंग हुई, तो देश के लिए निजाम ने अपना सोना बेच दिया था।' ओवैसी ने कहा कि वह ऐसी धमकियों से डरने वाले नहीं हैं।

योगी के बहाने मोदी पर हमला 

ओवैसी ने योगी के बयान को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को भी हमला बोला। उन्होंने कहा, 'यह केवल योगी का भाषण हैं, लेकिन इसकी भाषा और मानसिकता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है।' ओवैसी ने कहा कि योगी को मुख्यमंत्री की तरह बात करनी चाहिए और वह जिस कार्यालय में है, उसकी गरिमा को कायम रखना चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को पहले अपने निर्वाचन क्षेत्र का ख्याल रखना चाहिए, जहां हर साल 150 बच्चे एन्सेफलाइटिस (मस्तिष्क ज्वर) से मरते हैं।

अकबरुद्दीन ओवैसी भी भड़के 

इस बीच असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी ने भी योगी आदित्यनाथ के बयान पर पलटवार किया है। एक सार्वजनिक बैठक के दौरान अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा, 'कोई भी उन्हें भागने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है। हम वह नहीं, जो लोग भाग जाएंगे।

7 दिसंबर को तेलंगाना में मतदान

गौरतलब है कि तेलंगाना की 119 विधानसभा सीटों के लिए 7 दिसंबर को मतदान होना है। तेलंगाना के अलग राज्य बनने का बाद पहली बार यहां चुनाव होने जा रहा है।

 

Posted By: Nancy Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस