चेन्नई, एजेंसियां। तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर उपजे मतभेद के चलते अन्ना द्रमुक का साथ छोड़ने वाली फिल्म स्टार विजयकांत की डीएमडीके पार्टी ने का अब दिनाकरन की एएमएमके पार्टी के साथ समझौता किया है। टीटीवी दिनाकरन जयललिता की खास रहीं शशिकला के भतीजे हैं। नए समझौते में विजयकांत की डीएमडीके को चुनाव लड़ने के लिए 60 सीटें मिली हैं। विजयकांत की पार्टी ने नौ मार्च को अन्ना द्रमुक से संबंध तोड़ा था। अन्ना द्रमुक-भाजपा गठबंधन उन्हें अपेक्षित सीटें नहीं दे रहा था। तमिलनाडु की 234 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैल को सिर्फ एक दिन वोट पड़ेंगे और दो मई को परिणाम घोषित होगा। 

पलानीस्वामी और स्टालिन ने पर्चे भरे

तमिलनाडु में सोमवार को मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने अन्ना द्रमुक प्रत्याशी के रूप में एडाप्पडी से नामांकन पत्र भरा। इस सीट से वह पूर्व में चार बार विधायक रह चुके हैं। पांचवीं बार के लिए इस बार भाग्य आजमाएंगे। नामांकन पत्र भरने के बाद पलानीस्वामी ने कहा, उनकी सरकार ने जनकल्याण के लिए बहुत सारे काम किए हैं। इसलिए उन्हें पूरा भरोसा है कि अन्ना द्रमुक-भाजपा-पीएमके गठबंधन जीतकर फिर सत्ता में आएगा। अपना दायरा बढ़ाते हुए अन्ना द्रमुक ने छह अप्रैल के केरल विधानसभा चुनाव के लिए अपने दो प्रत्याशी खड़े किए हैं। यह जानकारी तमिलनाडु के उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने दी है। 

द्रमुक के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी सोमवार को कोलाथुर सीट से नामजदगी का पर्चा भरा। नामांकन से पहले स्टालिन पूर्व मुख्यमंत्री सीएन अन्ना दुरई और एम करुणानिधि के स्मारकों पर गए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। स्टालिन के साथ ही उनके बेटे उदयनिधि ने चेन्नई की चेपक सीट से नामजदगी का पर्चा भरा।

Edited By: Arun Kumar Singh